बिना रजिस्ट्रेशन के संचालित है एसएस क्लीनिक, मेडीकल कॉलेज के 8 डॉक्टर दे रहे है सेवाएं, CMHO बोले कल करेंगे कार्यवाही

सतेन्द्र उपाध्याय | शिवपुरी। जब से शिवपुरी में मेडीकल कॉलेज का शुभारंभ हुआ है। तब से ही पूरे शहर में कुकुरमुत्तों की तरह डॉक्टरों ने अपनी अपनी क्लीनिक खोल ली है। मेडीकल कॉलेज में इलाज के लिए जाने बाले मरीजों को पदस्थ चिकित्सक अपनी क्लीनिक पर आने का सरेआम बुलाते है। इसके साथ ही जब मरीज नहीं पहुंचता तो उसके साथ बहुत बुरे व्यवहार से पेश आते है।

जिसके चलते हालात यह हो गई है कि मरीजों को मजबूरी में इनके पास पहुंचना पडता है। ऐसा ही मामला आज शहर के एसएस क्लीनिक से प्रकाश में आया है। जहां इस क्लीनिक का न तो स्वास्थ्य विभाग में कोई रजिस्ट्रेशन है और न ही कोई लाईसेंस। इसके बाबजूद भी इस छोटे से क्लीनिक में शहर के लगभग 8 डॉक्टर जो कि मेडीकल कॉलेज मे पदस्थ है अपनी सेवाएं दे रहे है। यह सेवाएं अपने शासकीय टाईम के साथ साथ दी जा रही है। जिसके चलते मरीजों को मजबूरी में इनके यहां आने के जिए बाध्य होना पडता है।

जानकारी के अनुसार एसपी कोठी के पास में ही मेन रोड पर एसएस क्लीनिक के नाम से एक क्लीनिक का संचालन किया जा रहा है। जिसका संचालन विधिवत वोर्ड लगाकर मेडीकल कॉलेज शिवपुरी में पदस्थ डॉक्टर शिरस धीर द्धारा किया जा रहा है। यह डॉक्टर जो कि मेडीकल कॉलेज में मुख एवं दंत रोग विशेषज्ञ बता रहे है। इसके साथ ही इस क्लीनिक पर विधिवत तरीके से सौरभ चौहान जो कि शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में सर्जन के पद पर पदस्थ है वह अपनी सेबाएं दे रहे है।

इसके साथ ही इस क्लीनिक में डॉ सोनेन्द्र शर्मा आर्थो भी अपनी सेबाएं दे रहे है। यह भी शासकीय चिकित्सक होने के साथ साथ चिकित्सा महाविद्यालय में पदस्थ है। इस छोटे से क्लीनिक में डॉ प्रीति निगोतिया जो कि मेडीसन के साथ साथ हदृय रोग विशेषज्ञ है अपनी सेवाएं दे रही है। इस क्लीनिक के वोर्ड पर विधिवत डॉ एसके जैन का भी नाम अंकित है। इसके साथ ही डॉ धीरेन्द्र शिवान भी अपनी सेबाएं इस क्लीनिक को दे रहे है। इसके साथ ही डॉ शभि जैन जो कि चाईल्ड स्पेशलिस्ट है वह भी इस क्लीनिक में अपनी सेबाएं दे रहे है।

इस मामले में सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इस क्लीनिक के संचालन का प्रशासन के पास कोई रिकोर्ड नहीं है। फिर यह क्लीनिक प्रशासन की नाक के नीचे कैसे संचालित है यह समझ से परे है। यहां बता दे कि इस क्लीनिक के संचालन महज एक मेडीकल संचालक कर रहा है। अब प्रशासन की आंख में सरेआम धूल झोककर इस क्लीनिक का संचालन करना समझ से परे है।अब देखना यह है कि इस मामले में प्रशासन क्या कार्यवाही करता है।

इनका कहना है
आज बता रहे है इस क्लीनिक की मुझे तो जानकारी नहीं है। अब यह तो हमारे गोयल सहाब ही बता पाएगें कि यह क्लीनिक हमारे यहा रजिस्टर्ड है या नहीं। अभी वह चले गए है में इसे दिखबा लेता है। लेकिन जिन डॉक्टरों के आप नाम बता रहे है वह मेडीकल कॉलेज में पदस्थ है। जिसके लिए हमें डीन को पत्र लिखना पडेगा। रही बात रजिस्ट्रेशन की तो में इसे दिखबा लेता हूं। अगर यह रजिस्टर्ड नहीं है तो हम कल ही इस पर टीम भेजकर कार्यवाही करेंगे।
डॉ एएल शर्मा,सीएमएचओ शिवपुरी।

आप जिस एसएस क्लीनिक की बात कर रहे है वह हमारे यहां रजिस्टर्ड नही है। अब यह कैसे और किस आधार पर चला रहे है वह तो सीएमएचओ ही बता पाएगे।  
आईबी गोयल, लेखापाल सीएमएचओ कार्यालय शिवपुरी।