डायल 100 के ड्रायवर अपराधों में लिप्त, प्रायवेट होने के चलते नहीं हो रही कार्यवाही

शिवपुरी। खबर शहर में संचालित डायल 100 की है। जहां इन दिनों पब्लिक की सुरक्षा में तैनात डायल 100 में प्रायवेट तौर पर रखे गए ड्रायवरों की मनमर्जी के चलते यह जिले में लगातार शिवपुरी की सुरक्षा व्यवस्था को बदनाम करने में जुटे है। आलम यह है कि जिले में चल रही डायल 100 का पूरा काम एक प्रायवेट कंपनी के हबाले है। जिसके चलते पुलिस विभाग भी इन पर  कोई कठोर कार्यवाही नहीं कर रहा है। जिसके चलते डायल 100 के कर्मचारी मनमर्जी पर उतारू है। अगर यही हालात रही तो उक्त डायल 100 के कर्मचारी किसी दिन पुलिस विभाग पर कालिक पोत देंगे।

जानकारी के अनुसार अभी हाल ही में एक डायल 100 का ड्रायवर एक महिला को इंवेंट के वहाने शासकीय बाहन में घुमा रहा था। इसका वीडियों बायरल होने के बाद यह हालात रही कि विभाग ने  उक्त कर्मचारी और पुलिस के कर्मचारीयों से स्टेटमेंट मांगा।  जिसमें उन्होंने जबाब दिया कि इस महिला का बस में पर्स चला गया था जिसे लेने वह बस का पीछा करने गए थे।

दूसरे मामले की बात करेें तो यहां हालात यह है कि डायल 100 में ड्यूटी करते समय प्रायवेट कर्मचारी खुद पुलिस की मिली भगत से जिले में अपराधों में उतर गए है। जिसके चलते हालात यह है कि बीते रोज फिजीकल पुलिस ने दो आरोपीयों को स्मैक के साथ गिरफ्तार किया था। जब उक्त एक युवक को पुलिस ने देखा तो वह उन्हीं के क्षेत्र में संचालित डायल 100 का ड्रायवर आमजद खान पुत्र अब्दुल रशीद खान उम्र 45 साल निवासी पुरानी शिवपुरी निकला। उक्त आरोपी डायल 100 के 2 बत्ती चौराहे पर तैनात रहता है।

अब अगर पुलिस के साथ रहने बाले या यू कहें कि शासकीय गाडी का दुरूपयोग करने बाले युवकों पर अगर लगाम नहीं लगी तो एक दिन यह आरोपी शहर में किसी बडी बारदात को अंजाम देने से नहीं चूंकेंगे। परंतु इनका संचालन एक प्रायवेट कंपनी करती है तो पुलिस इस मामले में ज्यादा हस्तक्षेप नहीं कर सकती।

इनका कहना है
हां डायल 100 का एक कर्मचारी स्मैक में पकडा हुआ था। जिसे जेल भेज दिया बात अगर गोलू की करें तो इस मामले में किसी ने शिकायत नहीं की। जिसके चलते अभी इस ड्रायवर को 5 दिन के लिए संस्पेंड कर दिया है। रही बात महिला की डायल 100 में बैठने की तो इसे लेकर हमने उक्त डायल 100 में पदस्थ पुलिस के कर्मचारीयों से स्पष्टीकरण मांगा है कि वह डायल 100 में आई कैसे। उनका जबाव आने के बाद ही आगे की कोई कार्यवाही की जाएगी।
प्रियंका मिश्रा,प्रभारी,डायल 100 पुलिस कंट्रोल रूम शिवपुरी।