खबर जरा हट के: श्रीमान के बेटे की शादी नगर पालिका के दास्तावेज में उठावनी में दर्ज | Shivpuri News

शिवपुरी। यह खबर थोडी सी हट के हैं इसमे थोडा भ्रष्टाचार का पुट है और व्यंग भी बन रहा हैं कि कैसे एक एडवोकेट मात्र कुछ हजार बचाने के चक्कर में हसी के पात्र बन गए। इस मामले की पुलिस अधीक्षक शिवपुरी को शिकायत हुई हैं।

मामला नपा के कम्यूनिटी हॉल से जुडा हुआ बताया जा रहा हैं जहां एक श्रीमान ने अपने बेटे की शादी की तारीख को एक सरकारी दस्तावेज में उठावनी में कनवर्ड कर दिया वो थोडे से पैसे की लालच में।  

इस खबर में सबसे बडा रोचक पहलू यह हैं कि नपा के कम्यूनिटी हॉल की आज की दिनांक 28 नबंवर की बुंकिग 9 अक्टूबर को कराई गई हैं और बुंकिग उठावनी के नाम से की गई हैं,अब आप ही स्वंय अदांजा लगा सकते हैं कि है यह कार्यक्रम बुकिंग दिंनाक से डेढ माह पूर्व ही कराई गई अब आप ही बताए की तेहरवी भी 10 या 12 दिन ही जाती हैं तो उठावनी डेढ माह बाद कैसे।

जानकारी के अनुसार आज पुलिस अधीक्षक को की गई एक शिकायत में आरोप लगाया गया है कि शिवपुरी नगर पालिका ने भ्रष्टाचार की हद पार करते हुए कम्यूनिटी हॉल की एडवोकेट धर्मेन्द्र शर्मा ने उठावनी के नाम से नगर पालिका में रशीद कटाई। परंतु जब पता चला कि उक्त तारीख में उठावनी तो नहीं है। परंतु धर्मेन्द्र शर्मा के बेटे दुष्यंत की शादी है।

इस शादी के बकायता कार्ड भी वितरित किए गए है। जिसमें विवाह स्थल भी कम्यूनिटी हॉल अंकित है। यह पूरा फर्जीवाडा वकील साहब ने अपने बेटे की शादी में चंद रूपए बचाने के लिए नपा के कर्मचारी के साथ मिलकर किया है। यह रशीद 9 अक्टूबर को कटाई गई है।

जिसमें उक्त उठावनी की रेट 4823 रूपए में काटी गई है। विधिवत नगर पालिका द्धारा कम्यूनिटी हॉल में आयोजित शादी समारोह में लगभग 31 हजार रूपए की राशि की रशीद काटी जाती है। जिसमें उक्त राशि को बचाने के फेर में उठावनी के नाम पर यह रशीद काटी गई है।

इनका कहना है
यह काम जाट देखता है। अब आज की किसकी रशीद है यह मेरी जानकारी में नहीं है। अब आप बता रहे हो तो में इसे दिखबा लेता हूं। बैसे हम विधिवत तरीके से इसमें फरियादी से एफीडेविड लेते है। उसके बाबजूद भी अगर शादी की जा रही है तो उसे में दिखबा लेता हूं। में खुद जा रहा हूं और अगर ऐसा पाया गया तो बाकी की राशि बसूली के लिए में पत्र लिखता हूं।
पूरन कुशवाह,आरआई नगर पालिका शिवपुरी।

मुझे अभी इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। में इसका पता लगाता हूं। अगर ऐसा हुआ है तो में मामले को दिखबा लेता हूं।
मुन्नालाल कुशवाह,नपाध्यक्ष शिवपुरी।