नपा में पार्षदो का धरना: CMO ने पार्षदो के आगे फैंके विकास के टुकड़े, नही माने पार्षद, अब तालाबंदी

शिवपुरी। शिवपुरी नगर पालिका के पार्षद लावारिस पडे विकास के कारण धरने पर बैठ गए आज उन्है तीसरा दिन हैंं। कल दूसरे दिन धरने पर बैठे पार्षदो को सीएमओ और नपाउपाध्यक्ष ने मनाने का प्रयास करते हुए विकास के टूकडो के रूप में वार्डों में 2—2 सडकेे का प्रस्ताव फैंका,लेकिन इस प्रस्ताव को सिरे खारिज करते हुए पार्षद ने आगे आंदोलन का उग्र करते हुए नपा में तालबंदी की धमकी दे डाली।
 

जानकारी के अनुसार सिंध जलावर्धन और सीवर लाइन में उखड़ी वार्डों की सड़कें नहीं बनने से पार्षद गुरुवार से नगर पालिका कार्यालय में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठ गए हैं। शुक्रवार को सीएमओ केके पटेरिया और उपाध्यक्ष अनिल शर्मा अन्नी पार्षदों से बातचीत करने धरना स्थल पर पहुंचे।

सीएमओ ने पार्षदों को सलाह दी कि हर वार्ड में 2-2 सड़कों का काम शुरू करा देंगे। हर वार्डों में सारी सड़कें बनाने के लिए नगर पालिका के पास बजट नहीं है। दो-दो सड़कें भी ऐसी जगह बनाई जाएंगी जहां डिस्ट्रीब्यूशन लाइन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

सीएमओ की इस सलाह पर पार्षद राजी नहीं हुए है। पार्षदों का कहना है कि जिन सड़कों के टेंडर हो चुके हैं, वे सारी सड़कें बनवाई जाएं। प्रयास असफल होने की वजह से सीएमओ और उपाध्यक्ष चले गए।

पहली बार पार्षदो ने जनहित की बात की,कहा ठेका देनी की आवश्यकता नही,नही माने सीएमओ
पार्षदों के साथ-साथ उपाध्यक्ष ने भी सीएमओ से कहा कि 26100 हाउस कनेक्शन का ठेका देने की कोई जरूरत नहीं है। तीन-चार वार्डों में लोगों ने खुद ही कनेक्शन कर लिए हैं। लोगों से कनेक्शन करवाकर वार्डों में सीसी सड़कों का काम शुरू करा दें, लेकिन सीएमओ ने इस बात पर अपनी रजामंदी नहीं दी है।

डिस्ट्रीब्यूशन लाइन बिछने तक सड़कों का काम रोका गया है। लेकिन टेंडर दर स्वीकृति को लेकर पार्षदों की नाराजगी रही। अब पार्षद हड़ताल पर बैठ गए हैं। धरना स्थल पर पार्षदों की संख्या बढ़ी है। पार्षदों का कहना है कि उनकी मांग नहीं मानी तो सोमवार से आंदोलन उग्र कर तालाबंदी करेंगे।