भावखेडी: राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य का दौरा | Shivpuri News

शिवपुरी। राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य गंगाराम घोसरे शनिवार को शिवपुरी में प्रवास पर आए। शिवपुरी के सिरसौद थाना क्षेत्र के भावखेड़ी गांव में बुधवार को दो दलित बच्चों की हत्या कर दी गई थी। इस मामले में जांच की जा रही है। श्री गंगाराम घोसरे ने भावखेड़ी गांव पहुंचकर परिवारजनों से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी। उन्होंने मृत बच्चों के परिजनों से कहा कि कि मामले पर पूरी गंभीरता से कार्यवाही की जाएगी।

राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य श्री गंगाराम घोसरे ने कहा कि आयोग द्वारा आर्थिक सहायता एवं परिवार की सुरक्षा आदि के संबंध में प्रशासन से चर्चा करके प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। दोषियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने घटना स्थल का जायजा लिया और पुलिस अधिकारियों से भी रिपोर्ट मांगी।

इस दौरान मध्यप्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी संघ के पूर्व सदस्य एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक बाल्मीकि (अनंत), महासचिव सुनील बाल्मीकि, पूर्व उपाध्यक्ष इंजीनियर सूरज खरे, प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार, बाल्मीकि समाज अधिकारी, कर्मचारी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमल किशोर कोड़े, पूर्व सचिव अशोक खरे, भारतीय बौद्ध संघ की राष्ट्रीय सचिव श्रीमती लक्ष्मी दण्डौतिया भी उपस्थित थी।

आर्थिक सहायता का प्रस्ताव आज ही शासन को भेजा जाए- श्री गंगाराम

भावखेड़ी गांव में दो दलित बच्चों की हत्या की गई है। इस मामले में पुलिस व प्रशासन दोनों ही परिवारजनों को आवश्यक आर्थिक सहायता एवं सुरक्षा मुहैया कराए। शासन को प्रस्ताव भेजा जाए। इस घटना में लिप्त दोषियों पर कठोर कार्यवाही की जाए और फरियादी को न्याय मिले। इस पूरे मामले में पुलिस की महत्वपूर्ण भूमिका है। आज ही आर्थिक सहायता का प्रस्ताव शासन को भेजा जाए। यह बात राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य गंगाराम घोसरे ने बैठक में कही।

सदस्य गंगाराम घोसरे शनिवार को शिवपुरी जिले के प्रवास पर थे। उन्होंने भावखेड़ी ग्राम पहुचंकर मृत बच्चों के परिजनों से मुलाकात की। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में प्रशासन एवं पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने निर्देश दिए है कि सफाई कर्मचारी संघ की ओर से प्रशासन द्वारा पीड़ित परिजनों को आर्थिक सहायता आदि के लिए  शासन को प्रस्ताव भेजा जाए। जिसमें परिवार को 50-50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी जाए। परिवार से चर्चा करके उनके लिए आवास भी चिंहित किया जाए और 15 दिन में यह कार्यवाही पूरी कर ली जाए। यदि परिवार शिवपुरी शहर में रहना चाहता है, तो आवास उपलब्ध कराया जाए।

उन्होंने कहा है कि एससीएसटी कोर्ट में केस दाखिल हो एवं इस मामले पर फास्ट ट्रायल किया जाए। बैठक में कलेक्टर श्रीमती अनुग्रहा पी ने बताया कि पीड़ित परिवार को 5-5 हजार रूपए की अंतेष्टि सहायता, 25-25 हजार रूपए की रेडक्रास से मदद दी गई है। साथ ही आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा 4 लाख 12 हजार 500 की राशि प्रत्येक पीड़ित परिवार को दे दी गई है।

बैठक में पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेन्द्र सिंह कंवर, एडीएम आर.एस.बालौदिया, एसडीएम अतेन्द्र सिंह गुर्जर, मध्यप्रदेश राज्य सफाई कर्मचारी संघ के पूर्व सदस्य एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक बाल्मीकि (अनंत), महासचिव सुनील बाल्मीकि, पूर्व उपाध्यक्ष इंजीनियर सूरज खरे, प्रदेश अध्यक्ष रवि कुमार, बाल्मीकि समाज अधिकारी, कर्मचारी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री कमल किशोर कोड़े, पूर्व सचिव अशोक खरे, भारतीय बौद्ध संघ की राष्ट्रीय सचिव श्रीमती लक्ष्मी दण्डौतिया भी उपस्थित थी।

बैठक में राष्ट्रीय सफाई कर्मचारी आयोग के सदस्य श्री गंगाराम घोसरे ने पुलिस अधीक्षक श्री राजेश सिंह चंदेल को भी निर्देश दिए कि पुलिस द्वारा पूरी पारदर्शिता के साथ मामले की जांच की जाए। परिजनों को सुरक्षा मुहैया कराई जाए।