KP YADAV अस्पताल पहुंचे, मरीज जमीन पर पड़े थे, नए सांसद भी मदद नहीं कर पाए

शिवपुरी। अभी तक जिला चिकित्सालय में डॉक्टरों सहित CMHO का रोना हुआ करता था कि अस्पताल में मरीजों के लिए बेड नहीं है। परंतु अब तो जिला चिकित्सालय में ही 2 तीन मंजिला नए बार्डो के बन जाने के बाद भी जिला चिकित्सालय मरीजों की हालात बद से बदतर है। इसी के चलते रात्रि में लोकसभा चुनाव जीतने के बाद सांसद डॉ केपी यादव रविवार की रात 8 बजे पहली बार जिला अस्पताल शिवपुरी में हालात देखने पहुंचे।

मेडिकल वार्ड के अंदर गेट से जैसे ही प्रवेश किया, गैलरी में जमीन पर पैरों में लेटे मरीज को देखकर सांसद यादव केक पैर ठिठक गए। सांसद ने रुककर मरीज को जमीन पर लेटे देखा, जिसे बोतल चढ़ रही थी। फर्श पर बिछाने के लिए चादर तक नहीं दी गई थी। मरीज केदारसिंह कुशवाह को उसका बेटा कपड़े से हवा कर रहा था। यह नजारा देखकर सांसद ने सीएमएचओ से पूछा कि यह क्या हालात हैं। सीएमएचओ कहने लगे कि मैं दिखवाता हूं, यहां मरीज को किसने भर्ती कराया है। पोल खुल जाने से अस्पताल प्रबंधन आनन फानन में मरीज को जमीन से उठाकर दूसरी जगह ले गया।

मेडिकल वार्ड की गैलरी में टहल रही महिला मरीज चिरौंजी बाई ने देखा कि कोई नेता आया है। वह तुरंत सांसद के पास पहुंची और कहने लगी कि साहब इलाज कराने के लिए पलंग नहीं है। इसलिए मजबूरी में टहलकर समय बिता रही हूं। वार्ड के अंदर जमीन पर ही लेटना पड़ रहा है। आज डॉक्टर देखने नहीं आए। गंदगी की वजह से परेशान हूं। सांसद कहने लगे कि दिखवाते हैं, आपके इलाज की व्यवस्था कराएंगे। अन्य मरीज लालाराम जाटव ने सांसद से कहा कि वह तीन दिनों से भर्ती है। आज कोई भी देखने नहीं आया। तकलीफ हो रही है, मैंने गोली मांगी तो किसी ने नहीं दी।

प्रसूताओं के परिजन बोले, एसी नहीं चल रहे, पंखे भी घर से लेकर आए हैं

सांसद डाॅ यादव पहले मेटरनिटी वार्ड में पहुंचे। मेटरनिटी वार्ड में प्रसूताओं के अटेंडरों ने कहा कि यहां लगे ऐसी नहीं चल रहे हैं। पंखे भी ठीक से हवा नहीं दे रहे। इसलिए मजबूरी में घर से पंखे और कूलर लाना पड़ रहे हैं। समस्या पर अस्पताल प्रबंधन ध्यान नहीं देता। सांसद मेटरनिटी से सीधे मेडिकल वार्ड की तरफ जा रहे थे, लेकिन बीच गेट का किसी ने ताला लगा दिया। ताले की चाबी 5 से 7 मिनट बाद भी नहीं आई। सांसद घूमकर मेडिकल वार्ड में पहुंचे।

अस्पताल की समस्या को लेकर आज बैठक लेंगे

जिला अस्पताल के हालात देखकर सांसद डॉ यादव ने मीडिया के सामने ज्यादा कुछ नहीं कहा। पूछने पर सांसद बोले कि यहां डॉक्टर और नर्सों की कमी आ रही है। खाने की शिकायत आई है। सीवेज की भी समस्या है। यहां मैं कमियां निकालने नहीं बल्कि समाधान कराने आया हूं। सोमवार को बैठक में समस्याओं पर बात करेंगे।