इलाज के अभाव में बैराड़ अस्पताल में युवक ने दम तोड़ा, किया चक्का जाम | Bairad News

बैराड। जिले के गोवर्धन थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले ग्राम गाजीगढ़ के एक युवक को हाईटेंशन लाईन से करंट लग जाने से बेहोश हुए युवक को उपचार हेतु बैराड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जहां चिकित्सक न होने से युवक की मौत हो गई। इससे आक्रोशित परिजनों ने बैराड़ में चक्का जाम कर दिया। उनकी मांग थी कि बैराड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तत्काल चिकित्सक पदस्थ किया जाए।

जानकारी के अनुसार रविन्द्र पुत्र बंटी धाकड़ प्रत्येक दिन की तरह आज भी अपने खेत पर जा रहा था। और उसके खेत के बीच से निकली हाईटेंशन लाईन के तार निकले हैं जिनमें पिछले चार माह से बिल्कुल करंट नहीं था और जमीन पर यह तार झूल रहे थे। जिनको छूते हुए रोजाना की तरह आज निकला तो उसमें करंट अचानक आ गया जिससे रविन्द्र बेहोश हो गया।

जिसकी जानकारी उनके परिजनों को लगी तो उन्होंने तत्काल आनन फानन में ट्रेक्टर के माध्यम से बैराड़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया जहां कोई भी चिकित्सक मौजूद नहीं था। वहां मौजूद कम्पाउडर एवं स्टाफ नर्सों द्वारा उसका प्राथमिक उपचार प्रारंभ किया लेकिन तब तक रविन्द्र ने दम तोड़ दिया।

फिर क्या था परिजनों ने आक्रोशित जिला प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नार लगाते हुए रविन्द्र के शव को सडक़ पर रखकर चक्का जाम कर दिया। दो घंटे तक चले इस चक्का जाम की जानकारी जिला प्रशासन को लगी तो पोहरी से चिकित्सक एवं तहसीलदार की समझाईश के बाद मामले की गुमशुदगी बैराड़ थाने में दर्ज कराकर शव को पीएम के लिए भेजा गया।