शिवपुरी में बिजली सप्लाई बंद करके फरार हो गए अधिकारी, 10 घंटे तक परेशान रही जनता | Shivpuri News

शिवपुरी। बिजली कंपनी के कर्मचारी अधिकारियों की मनमानी से शहर की जनता त्रस्त हो गई है और अब सब्र का बांध टूटने जा रहा है। रविवार को कई इलाकों की बिजली सप्लाई बंद करके बिजली कंपनी के अधिकारी फरार हो गए। उनसे मोबाइल पर भी संपर्क नहीं हो पा रहा है। 

रविवार को विवेकानंद फीडर पर 10 घंटे बिजली कटौती रही है। सुबह 8 बजे से शाम को 6 बजे तक बिजली नहीं आई। परेशान लोगों ने जब बिजली कंपनी के अधिकारियों को फोन किए तो कई वरिष्ठ अधिकारियों के मोबाइल स्विच ऑफ रहे। तरह तरह की बातें हो रहीं हैं। कुछ लोग अधिकारियों को भाजपा का ऐजेंट कह रहे हैं तो कुछ इस कटौती को सिंधिया की हार का बदला बता रहे हैं। 

पीएस होटल के सामने पेड़ गिरने का बहाना बनाकर गायब कर दी बिजली

परेशान लोगों ने बताया है कि रविवार के दिन 10 घंटे से ज्यादा ही कटौती की गई है, जिसमें सर्किट हाउस रोड, न्यू ब्लॉक, कोतवाली रोड, शक्तिपुरम खोड़ा,  रेलवे स्टेशन कॉलोनी, पीएस होटल के पास आदि स्थानों पर 10 घंटे से ज्यादा की बिजली गायब रही। पीएस होटल के सामने तार टूट जाने का बहाना बना करके बिजली काटी गई। जबकि पिछले तीन महीने से मेंटेनेंस के नाम पर बिजली कंपनी के अधिकारी व्यवस्था सुधारने की बात कह रहे हैं लेकिन वितरण व्यवस्था सही नहीं हो पा रही है।

कई सालों से पदस्थ अधिकारी कर रहे हैं मनमानी

बिजली कंपनी में कई अधिकारी शिवपुरी शहर में बरसों से पदस्थ रह कर मनमानी कर रहे हैं और कांग्रेस के मंसूबों पर पानी फेर रहे हैं। सूत्रों ने बताया है कि बीते कुछ रोज पहले कुछ बिजली कंपनी के अधिकारियों के ट्रांसफर यहां से हुए लेकिन उन्होंने जुगाड़ करके अपने ट्रांसफर कैंसिल करा लिए। बिजली वितरण व्यवस्था को सुदृढ़ करने की बजाय और खराब करने में यहअधिकारी लगे हुए हैं जिसके कारण कांग्रेस को शहरी क्षेत्र में नुकसान हो रहा है। बिजली कंपनी के अधिकारियों की चल रही इस मनमानी से जनता परेशान हो रही है और उसकी सुनवाई स्थानीय जनप्रतिनिधि नहीं कर रहे हैं।