सुल्तानगढ़ झरने पर पर्यटकों का प्रतिबंध, पुलिस ओर फोरेस्ट का प्रकृति पर पहरा | SHIVPUTI NEWS

शिवपुरी। ग्वालियर जिले और शिवपुरी जिले की सीमा पर स्थित सुल्तानगढ वाटर फॉल अब पब्लिक के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। बताया जा रहा हैं झरने पर पुलिस और फोरेस्ट का संयुक्त प्रहरा है। बताया जा रहा हैं कि सुरक्षा की दृष्टि को देखते हुए प्रशासन ने ऐतियायात के तौर पर उठाया गया हैं।

जैसा कि विदित हैं कि पिछले वर्ष जब देश आजादी का जश्न मना रहा था तब इस झरने पर 9 पर्यटको की मौत हो गई थी। जिले और आसपास झमाझम बारिश हो गई। वाटर फॉल अपने पूरे वैग से 50 फुट की उंचाई से गिर रहा हैं। सुल्तानगढ वाटर फॉल जंगल में होने के कारण यहां नशा करके भी आम लोग भी पहुंचते हैं।

सुरक्षा के यहां कोई साधन नही हैं और ना ही प्रशासन सुरक्षा के कोई इंतजाम करता है। पर्यटक अपने रोंमाच के लिए अपनी सुरक्षा सीमा तोड देता हैं। झरना ने अपना रौद्र रूप धारण कर चुका हैं। पर्यटको की सुरक्षा की दृष्टि को देखते हुए प्रशासन ने इस समय इस पर प्रहरा बैठा दिया है।

नदी नदियो का पानी गिरता हैं यहां

पार्वती व मऊहर की सहायक नदी भकर्रा में पानी के तेज बहाव के कारण 50 फीट ऊंचाई से झरना गिर रहा है। सुल्तानगढ़ के कुंड में 12 महीने पानी रहता है, लेकिन झरना सूखा रहता है। बारिश में यहां पार्वती, मऊहर और भकर्रा नदी और जंगली इलाकों के एक अधिक से दर्जन बरसाती झरनों का पानी यहां आकर मिलता है। झरने से गिरकर ये पानी नरवर के पास हरसी डेम में जाता है।

लेकिन सवाल बडा हैं

पर्यटक नगरी का दर्जा पाने वाली शिवपुरी नगरी,बारिश के दिनो में स्वर्ग सी हो जाती हैं,ओर पर्यटक यहां दूर—दूर से घूमने आते हैं। ऐसे में इस प्रकृति की सुंदरता पर प्रहरा लगाना उचित नही होगा,सुरक्षा के दृष्टि से यहां प्रशासन को सिक्योरिटी लगानी चाहिए।

इस झरने के पास जाने की एक सीमा तय करन चाहिए। जिससे पर्यटक इस सुरक्षा सीमा का ना तोडे। अगर पुलिस या फोरेस्ट झरने पर तैनात रहेगी। तो  पर्यटक भी नियत्रंण में रहेगा। अगर हादसो के कारण ऐसे ही किसी स्थान को प्रतिबंध लगा दिया जाता तो सबसे पहले सडको पर प्रतिबंध होता सबसे ज्यादा हादसे सडको पर ही होते हैं। शिवपुरी समाचार डॉट कॉम किसी भी प्रकार की दुर्घटनाओ का समर्थन नही करता,लेकिन पर्यटक नगरी के पर्यटक के प्रतिबंध का विरोध अवश्य करता हैं।  

सुरक्षा की दृष्टि से लगाए हैं पुलिस गार्ड

हमने सुरक्षा की दृष्टि से सुल्तानगढ़ जाने वाले रास्ते पर गार्ड लगाए हैं। गत वर्ष के हादसे को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा करना हमारी प्राथमिकता है। बाकी लोगों हम जागरूक भी करते हैं। सैलानी ये बात समझते भी हैं और नियम फॉलो भी करते हैं।
राजेश सिंह, एसपी शिवपुरी