पवा झरने के लिए बनाई जाऐगी सडक,करैरा और नरवर नगर को सवारने की योजना | Shivpuri News

शिवुपरी। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में शुक्रवार को जिला पर्यटन संवर्धन परिषद की बैठक आयोजित की गई। कलेक्टर अनुग्रहा पी. ने कहा कि शिवपुरी में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। हमें इसे प्रमोट करके अधिक से अधिक सैलानियों को आकर्षिक करने की जरूरत है। कलेक्टर ने कहा कि बाहर से आने वाले सैलानियों को पर्यटक स्थलों तक जाने बेहतर आवागमन की सुविधा मिले, इसके लिए हमें पर्यटक स्थलों तक पहुंच मार्ग एवं सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम करने होंगे।

उन्होंने कहा कि पोहरी तहसील के तहत आने वाला पवा जल प्रपात अपने आप में एक अनोखा पर्यटक स्थल है। इस स्थल तक पहुचंने के लिए कलेक्टर ने पहुंच मार्ग बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने पर्यटकों के टूरिस्ट विलेज पहुंचने के लिए स्ट्रीट लाईटों की मरम्मत कराने को कहा है।

कलेक्टर ने कहा कि बाहर से आने वाले पर्यटकों को जिले के पर्यटन, धार्मिक एवं एतिहासिक स्थलों की जानकारी आसानी से मिल सके। इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग एवं राज्य मार्गों पर साइनेज बोर्ड और एनआईसी की बेवसाइड पर भी जिले के पर्यटक स्थलों की जानकारी अपलोड की जाएगी।

जिससे बाहर से आना वाला पर्यटक जिले के पर्यटन स्थलों के संबंध में जानकारी हासिल कर सके। कलेक्टर ने टुण्डा भरका वाटर फाॅल पर साफ-सफाई के साथ-साथ पर्यटक अनावश्यक रूप से प्लास्टिक की थैलियां ना डालें। इसके लिए डस्टबिन रखवाए जाएं। कलेक्टर ने महिलाओं के लिए चैंजिंग रूम की भी व्यवस्था करने के वन विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए हैं।

पर्यटकों को आकर्षित करता जिले का पर्यटन स्थल पवा झरना।
टुण्डा भरका की राॅक पेंटिंग भीम बेठका से भी प्राचीन
बैठक में साहित्यकार अरूण अपेक्षित ने टुण्डा भरका खो का इतिहास बताया। उन्होंने कहा कि यहां राॅक पेंटिंग, भीम बेटका की राॅक पेंटिंग से भी प्राचीन है। बैठक में दिनारा, तालाब, दिहायला झील, लखना तालाब एवं मड़ीखेड़ा डेम पर जाने वाले पयर्टकों को आवागमन एवं मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए प्रोजेक्ट में शामिल करने की सलाह दी गई।

बैठक में बताया कि 20 लाख रुपए की लागत से करैरा एवं नरवर में पर्यटन को बढ़ावा देने व पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन स्थलों के सौंदर्यीकरण एवं मरम्मत के कार्य कराए जाएंगे।