नायब तहसीलदार पर छेड़छाड़ का आरोप लगाने वाली महिला पलटी, कहा मैं नही जानती | KOLARAS NEWS

बदरवास। बदरवास तहसील के वृत रन्नौद में पदस्थ नायब तहसीलदार के खिलाफ जिस विधवा आदिवासी महिला ने छेड़छाड़ की एसपी से शिकायत की थी, उसने शपथ पत्र दिया है। आदिवासी महिला मुन्नी आदिवासी का कहना है कि मैं नायब तहसीलदार को जानती तक नहीं हूं। उससे दो लोगों ने बहला फुसलाकर झूठी शिकायत करा दी थी।

महिला ने यह शपथ पत्र के साथ एसडीएम कोलारस के समक्ष बयान भी दिए हैं। इधर चरित्र पर झूठा आरोप लगने से साथी नायब तहसीलदारों में भी गुस्सा है। इसी को लेकर नायब तहसीलदार बुधवार को एकजुट हुए और कलेक्टर अनुग्रहा पी को लिखित शिकायत कर दी है। जिसमें झूठी शिकायत कराने वालों पर कार्रवाई की मांग की है।

कलेक्टर को सौंपे ज्ञापन में साथी नायब तहसीलदारों का कहना है कि बदरवास तहसील के वृत रन्नौद में पदस्थ (परविक्षाधीन) नायब तहसीलदार सतेंद्र सिंह गुर्जर पदस्थ हैं। महिला उमा बाई पत्नी गजराज सिंह रघुवंशी निवासी सजाई का बंटवारे का प्रकरण उनके यहां विचाराधीन है। पटवारी से रिपोर्ट मांगी जिसमें यह जमीन स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा कोलारस में बंधक है। इसलिए जमीन का बटवारा बैंक में बंधक मुक्त किए जाने के बाद करना उचित है।

महिला की जगह पति गजराजसिंह स्वयं पेशी पर आए। पटवारी ग्राम रिपोर्ट व संलग्न खसरे का अवलोकन कर उक्त जमीन विवादित होने की बात कही। इसलिए बटवारा होना संभव नहीं है। इस बात को लेकर गजराज रघुवंशी गाली गलौज करने लगे। नायब तहसीलदार गुर्जर ने मामले की लिखित शिकायत रन्नौद थाने में की।

इसी से बौखलाकर गजराज ने नायब तहसीलदार गुर्जर के खिलाफ साजिश रची और भोली भाली विधवा आदिवासी महिला मुन्नी आदिवासी को बहला फुसलाकर 22 अगस्त को एसपी ऑफिस में शिकायती आवेदन दिलवा दिया। जिसमें छेड़छाड़ जैसा गंभीर आरोप लगाए।