4.20 लाख के प्लाट की रजिष्ट्री कराकर, 1.5 करोड की जमीन पर कब्जा करने पहुंचे रावत बंधु

शिवपुरी। बिना पढे लिखे और बुर्जग लोगो के साथ जमीनो के मामले की धोखाधडी होने के कई मामले शिवपुरी में आ चुके हैं। कल ऐसा ही एक मामला सामने आया हैं जहां एक 1200 फुट के प्लाट की रजिष्ट्री कराकर कुशावाह समाज के एक बुर्जग के मरने के बाद उसकी 1 बीघा जमीन पर कब्जा करने पहुंच गए।

जानकारी के अनुसार रेलवे स्टेशन रोड स्थित नई पुलिस लाइन के पीछे रहने वाले चंपालाल कुशवाह ने समाज के लोगों के साथ आकर सिटी कोतवाली टीआई को आवेदन दिया है। चंपालाल का कहना है कि उसके पिता गजनलाल कुशवाह का दो महीने पहले निधन हुआ है। निधन से पहले पिता ने संजय रावत को 2 मार्च को 1200 वर्गफीट जमीन 4.20 लाख रुपए में बेची थी।

विक्रय पत्र के दौरान संजय रावत ने अपने मामा के बेटे नरेंद्र सिंह रावत, रणवीर सिंह मौजूद थे। पिता पढ़े-लिखे नहीं थे, इसी बात का फायदा उठाकर संबंधित लोगों ने प्लॉट के साथ-साथ 0.209 हेक्टेयर (224936 वर्गफीट) जमीन का विक्रय पत्र भी संपादित करवा लिया।

पिता की मौत के बाद नरेंद्र रावत, गजेंद्र रावत, नरेंद्र रावत अन्य साथियों के साथ आया और जमीन की नापजोख करने लगा। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देकर चले गए। वहीं जिस एग्रीमेंट में जमीन 20 लाख रु. में खरीदी जाना बताया है। उसकी वर्तमान में बाजार की कीमत 1.50 करोड़ से ज्यादा बनती है।