पागल सियारो का आबादी क्षेत्र में हमला,12 लोग घायल,अस्पताल में नही है एंटी रैबीज इंजेक्शन | KARERA NEWS

करैरा। खबर जिले की करैरा विधानसभा से आ रही हैं। जहां करैरा नगर के लगभग 1 दर्जन लोगो पर पिछले 5 दिनो में सियारो ने हमला कर घायल कर दिया हैं, उधर करैरा अस्पताल में एंटी रैबीज के इंजेक्शन भी नही मिल रहे हैं। बताया जा रहा हैं कि एक मरे हुए बैल का मांस  खाकर उक्त सियार पागल हो गए हैं जो किसी भी राहगीर पर हमला कर देते हैं।

जानकारी के अनुसार करैरा कस्बे का वार्ड क्रमांक 1 में साल दिन पूर्व एक बैल मर गया था,जिसे लोगो ने वार्ड के पास लगें जंगल में एक पहाडी पर फैक दिया था,इस मरे हुए बैल को सियारो ने खा लिया। इसी मरे हुए बैल का मांस खाकर सियार पागल हो गए हैं और आवादी क्षेत्र में आकर आम जन पर हमला कर रहे हैं।

बताया जा रहा हैं कि  गुरुवार को शिक्षक ईमान उल रहमान 4.45 बजे बाइक से घर लौट रहे थे। अचानक सियार आया और हमला बाेल दिया। शिक्षक को हाथ व पैर में सियार ने काट लिया। शिक्षक किसी तरह जान बचाकर भागा और अस्पताल पहुंचकर इलाज कराया।

इसी तरह पुष्पा बाई खेत पर काम कर रही थी। इसी दौरान सियार आए और हाथ, पैर सहित शरीर में चार-पांच जगह काट लिया। आसपास खेताें पर मौजूद लोगों ने आकर जान बचाई। इसके अलावा सियार अजमेर सिंह कुशवाह, धर्मेंद्र कुशवाह, धनिया जोशी, नत्थू कुशवाह आदि पर हमला बोलकर जख्मी कर चुके हैं। अचानक से सियार के हमले से लोगों में दहशत फैल गई। वहीं अस्पताल में एंटी रैबीज के इंजेशन नहीं मिल रहे हैं।

रैबीज संक्रमित जानवर को खाने से दूसरे जानवर संक्रमण के शिकार हो जाते हैं

वहीं इस संबंध में ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर करैरा प्रदीप कुमार शर्मा का कहना है कि रैबीज संक्रमित जानवर को खा लेने से दूसरे मांसाहारी जानवर भी इस संक्रमण का शिकार हो जाते हैं। करैरा नगर में सियारों द्वारा हमला किए जाने संबंधी जानकारी नहीं है। यदि सूचना मिलती है तो पीड़ित लोगों को इलाज मुहैया कराएंगे। एंटी रैबीज और टिटनेस के इंजेक्शन पर्याप्त हैं, आज ही मंगाए हैं।