स्मैक का आदी बताया जा रहा है मृतक आरक्षक मुकेश, लंबे समय से चल रहा था इलाज | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। स्मैक का नशा अब मौत बनकर शिवपुरी पर मंडराने लगा हैं, शिवानी की मौत के बाद आरक्षक मुकेश की मौत का कारण भी स्मैक का नशा बताया जा रहा हैं। हालाकि इसकी अभी पुष्टि नही हुई हैं लेकिन दबी जुबान से पुष्टि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कंबर ने की हैं।

जैसा विदित हैं कि आज सुबह भोर होते ही  पुलिस लाइन में पदस्थ मनियर निवासी मुकेश शर्मा की लाश आज तडक़े ठाकुर बाबा मंदिर हाथी खाना में जमीन पर पड़ी हुई मिली। जिसकी जानकारी मंदिर पर दर्शन करने आने वाले भक्तों ने कोतवाली पुलिस को दी।

सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और लाश को पीएम हाउस भिजवा दिया। स्थानीय लोगों की माने तो मुकेश स्मैक का आदी था और पिछले लंबे समय से वह यह नशा कर रहा था। जिसकी दबी जुबान से पुष्टि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गजेंद्र सिंह कंबर ने की है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि मृतक का पीएम होने के बाद इस बात की पूर्ण रूप से पुष्टि हो सकेगी।

अब सवाल यह है कि स्मैक का नशा करने और बिकवाने में पुलिस की भूमिका संदिग्ध है। ऐसी स्थिति में पुलिस किस तरह से शहर में फैले इस स्मैक के नशे पर काबू पा सके। क्यो की कई पुलिसकर्मी भी इस नशे की गिरफ्त में आ चुके हैं। फिलहाल पुलिस ने मामले को संदिग्ध मानकर मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

कुछ वर्ष पूर्व नशे की लत के कारण मुकेश कोमा में भी चला गया था जिसका इलाज परिवारजनों ने कई बड़े अस्पतालों में कराया और उपचार के बाद उसकी स्थिति में सुधार भी हुआ, लेकिन उसने नशे की लत को नहीं छोड़ा और वह बड़े स्तर पर नशे का शिकार रहने लगा। लोगों का कहना है कि संभवत: इसी नशे के  कारण उसकी मौत हो गई हो। फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।