पैसे लेकर नौकरी लगवाने वाला अधिकारी अभी तक गिरफ्तार नहीं, करोडो के भावांतर में FIR के बाद कार्यवाही नही | SHIVPURI NEWS

शिवपुरी। शिवपुरी में इस वर्ष ऐसे 2 मामले प्रकाश में आए थे,जहां एक बिजली कंपनी का अधिकारी पैसे लेकर बेरोजगारो को लूटने वाले अधिकारी पर मामला सिटी कोतावाली में दर्ज हो चुका हैं,तो वही शिवुपरी मंडी में भावांतर घोटाले में फसे मण्डी सचिव सहित अन्य कर्मचारियो पर भी कोई कार्रवाई नही हुई है। इससे सिटी कोतवाली पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

जानकारी के अनुसार कृषि उपज मंडी शिवपुरी के तत्कालीन सचिव रविंद्र शर्मा सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारियों के खिलाफ सिटी कोतवाली में अक्टूबर 2019 में मुकदमा दर्ज कराया गया था। सात महीने बीत जाने के बाद भी पुलिस विवेचना पूरी नहीं कर पाई है। सरकार को करोड़ों का चूना लगाने की लगभग पूरी तैयारी हो चुकी थी। लेकिन तत्कालीन कलेक्टर शिल्पा गुप्ता के निर्देश पर धांधली पकड़ी गई।

इसी तरह बिजली कंपनी में कुछ युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम पर 40 हजार से लेकर 70 हजार रुपए की ठगी मामले में महाप्रबंधक आरके अग्रवाल व अन्य लोगों पर मुकदमा दर्ज है। पुलिस फरवरी 2019 में ही चालान पेश कर चुकी है। लेकिन महाप्रबंधक अग्रवाल की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

पुलिस प्रकरण में चालान पेश हो जाने के बाद शिवपुरी के तत्कालीन महाप्रबंधक आरके अग्रवाल ने हाईकोर्ट से अग्रिम जमानत के लिए अर्जी लगाई। लेकिन कोर्ट ने जमानत याचिका 14 मई को खारिज कर दी है। मामले में सिटी कोतवाली पुलिस को ही कार्रवाई करनी है। लेकिन पुलिस के ढीले रवैये के कारण महाप्रबंधक की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। इस मामले में टीआई सिटी कोतवाली बादाम सिंह यादव ने कहा कि विवेचना के बाद आरोपी जल्द गिरफ्तार किए जाएंगे।



Virus-free. www.avg.com