SHIVPURI NEWS - जिला अस्पताल में शराबी कर्मचारी सहित वसूली करने वाली सफाई कर्मियों को हटाया

Bhopal Samachar
शिवपुरी। जिला अस्पताल की मेटरनिटी विंग में महिला सफाई कर्मियों द्वारा प्रसुताओं से जबरन पैसा वसूलने की शिकायत के बाद सिविल सर्जन ने दो महिला सफाई कर्मचारियों को काम से हटवा दिया है।

जानकारी के अनुसार सिविल सर्जन डॉ. बीएल यादव को रात के समय करैरा की एक महिला ने फोन पर सूचना दी कि ड्यूटी पर तैनात महिला सफाई कर्मियों द्वारा उससे जबरन पैसों की वसूली की जा रही है। सूचना पर जब सिविल सर्जन वार्ड में पहुंचे तो वहां कई अन्य महिलाओं ने भी शिकायत की पुष्टि की कि महिला सफाईकर्मी जबरन पैसा वसूल करती हैं। स्ट्रेचर पर लाने का पैसा, पलंग पर लिटाने का पैसा, इतना ही नहीं प्रसूताओं की छुट्टी होने पर भी पैसा लिया जाता है।

सिविल सर्जन के अनुसार उक्त महिला से जब पैसे मांगे तो उसने ड्यूटी पर तैनात महिला सफाई कर्मियों को 250 रुपये दे दिए लेकिन सफाईकर्मी 300 रुपये लेने की जिद पर अड़ गई। इसी के चलते महिला सफाईकर्मियों को अस्पताल से हटवा दिया गया है। उनके अनुसार एजेंसी को स्पष्ट रूप से निर्देशित किया गया कि इन्हें अब अस्पताल में तैनात न किया जाए। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही अन्य कर्मचारियों को भी स्पष्ट रूप से निर्देश दिए गए हैं कि अगर किसी के द्वारा अवैध वसूली की गई तो वह अस्पताल में ड्यूटी नहीं कर पाएगा।

लैब कर्मचारी ने की महिलाओं के साथ अभद्रता

एक अन्य मामले में पिछले दिनों आधी रात को लैब में तैनात एक कर्मचारी शंशाक शराब के नशे में अपने एक अन्य मित्र के साथ मेटरनिटी वार्ड में पहुंचा और उसने वार्ड में जाकर प्रसूताओं के साथ बदतमीजी शुरू कर दी। जब वार्ड में ड्यूटी पर तैनात नर्सिंग स्टाफ पहुंची तो शशांक ने उक्त स्टाफ के साथ भी बेहद बदतमीजी करना शुरू कर दी।

नसिंग स्टाफ द्वारा जब मामले की शिकायत सिविल सर्जन डा. यादव को दर्ज करवाई गई तो उक्त कर्मचारी की पहचान लैब में तैनात कर्मचारी शशांक के रूप में की। सिविल सर्जन ने आउट सोर्स एजेंसी द्वारा तैनात उक्त कर्मचारी को तत्काल नौकरी से हटाने के निर्देश जारी कर उसे नौकरी से हटवा दिया।
G-W2F7VGPV5M