SHIVPURI NEWS - ​बैराड़ में लागू नहीं होती एसपी की जीरो टॉलरेंस की नीति, स्मैक के कारण एक और मौत

Bhopal Samachar
शिवपुरी। शिवपुरी जिले में स्मैक का कारोबार चरम पर है। समय समय पर स्मैक के मामले लगातार सामने आते रहते है,अगस्त माह के अंतिम सप्ताह में एसपी शिवपुरी रघुवंश प्रसाद सिंह भदौरिया ने सोशल पर वीडियो जारी कर कहा था कि जिले के सभी थानेदार अपने अपने थाना क्षेत्र में नशे के मामले में जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करे,लेकिन यह नीति बैराड़ थाना सीमा में लागू नहीं होती।

बैराड पुलिस की कार्यप्रणाली के चलते कुछ दिन पूर्व चायना शर्मा के हत्याकांड को लेकर चायना के पति अजय शर्मा ने भूख हड़ताल भी शुरू कर दी थी,अब खबर मिल रही है कि बैराड़ नगर में रहने वाले एक युवा की स्मैक के नशे के ओवर डॉज से मौत हो गई है।

जानकारी के मुताबिक बैराड़ नगर में मुक्तिधाम के पीछे निवासी कुलदीप जाटव उम्र 25 साल का शव बुधवार सुबह घर में संदिग्ध हालत में पड़ा मिला। आसपास के लोग कुलदीप को अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक के हाथों में इंजेक्शन लगने के निशान मिले है। बताया जा रहा है कि कुलदीप नशा करता था। इसलिए ऐसी आंशका है कि स्मैक के ओवरडोज से ही युवक की मौत हुई है।

अब कुलदीप के घर में केवल उसकी मां रह गए है, क्योंकि कुलदीप का भाई जहां एक मामले में जेल में बंद है तो कुछ समय पूर्व पिता की भी नशे के कारण मौत हो गई है। इधर पूरे मामले में बैराड़ थाना प्रभारी नवीन यादव का कहना है कि अभी युवक की मौत के कारण स्पष्ट नही है। ऐसी जानकारी मिली है कि वह नशे का आदि था। जांच के बाद स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

जिले के गांव गांव में बिक रहा है सफेद जहर

शिवपुरी जिले में शिवपुरी मुख्यालय सहित गांव गांव में स्मैक खुले आम बिक रही है,लगातार स्मैक के कारण मौत होने की खबरे भी मिल रही है। एसपी शिवपुरी रघुवंश प्रसाद भदौरिया ने भी स्मैक के मामले को गंभीरता से लेते हुए जिले के समस्त थाना प्रभारियों को मौत के इस कारोबार पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए थे और थानेदारो की जबाव देही भी तय की थी,लेकिन एसपी शिवपुरी के निर्देशों को गंभीरता से नहीं लिया गया और यह नशे के कारण हुई मौत का उदाहरण हमारे सामने आया है,अब देखना यह है कि इस मौत के बाद पुलिस नशे के कारोबार पर कितना लगाम लगा पाती है और एसपी शिवपुरी बैराड पुलिस पर क्या कार्रवाई करते है।

शिवपुरी जिले में यह हुई है नशे के कारण मौतें

  • राहुल उम्र 23 साल पुत्र ओमप्रकाश शाक्य निवासी जवाहर कॉलोनी शिवपुरी की नशे के ओवरडोज से मौत हो गई। घर की दीवार से टिकी हालत में शव मिला था। राहुल पहले से स्मैक का आदी था। यह मौत जुलाई 2023 में हुई थी
  • एक साल पहले शहर में किशोर सलमान उम्र 17 साल पुत्र इकबाल खान निवासी शिवपुरी की स्मैक के ओवरडोज से मौत हो चुकी है।
  • 10 सितंबर 2022 को विवेक उम्र 28 साल पुत्र रामचरण परिहार निवासी करौंदी कॉलोनी की स्मैक के ओवरडोज से मौत हो गई थी। विवेक का शव गुरुद्वारा चौराहे पर हाथ में भी सिरिंज लगी हालत में बरामद हुआ था।
  • चार साल पहले 17 साल की नाबालिग युवती की स्मैक के ओवरडोज से मौत हो गई थी। मौत के बाद दोस्त लाश को कृष्ण पुरम कॉलोनी में ऑटो से चबूतरे पर रखकर भाग गए थे। संबंधितों को पुलिस ने जेल भेजा था।
  • तीन साल पहले स्मैक तस्करी करते मगरौनी चौकी पुलिस ने लोकेंद्र उम्र 35 साल पुत्र गोपाल गोस्वामी निवासी शाडौरा को पकड़ा था। जेल जाने के बाद हालत बिगड़ी और फिर शिवपुरी अस्पताल भर्ती कराया। ग्वालियर रेफर करने के बाद रास्ते में दम तोड़ दिया।
  • इससे पूर्व बैराड़ में नशे के ओवरडोज से युवक की मौत हो गई। खंडहर से लाश बरामद हुई थी। करैरा में स्मैक के आदी युवक ने फांसी लगाकर जान दे दी थी।
  • कस्टम गेट क्षेत्र में रहने वाले एक युवक छोटू की इसी तरह के नशे के ओवरडोज के कारण अपने घर पर ही मौत हो गई थी। उक्त युवक की मौत का कारण भी नशे का ओवरडोज ही निकला था।

इन सभी मौतो में सबसे खास बात यह है कि यह सभी मौते युवाओं की हुई है। आंकड़े बता रहा है कि युवाओं को नशे में आनी गिरफ्त में ले रखा है,युवा पीढ़ी बर्बाद हो रही है साथ में उसका परिवार इस नशे के कारोबार का भुगतान कर रहा है।
G-W2F7VGPV5M