SHIVPURI NEWS - हेडमास्टर की मौत के मामले में डॉक्टर सहित 2 पर मामला दर्ज, लाश को हाईवे पर फेंक गए थे

Bhopal Samachar
शिवपुरी। खबर शिवपुरी जिले के करैरा थाना से मिल रहे है कि करैरा में सरकारी स्कूल में पदस्थ हेड मास्टर की मौत के मामले में पुलिस के ने जांच के बाद फर्जी डॉक्टर सहित 2 पर मामला दर्ज किया है। बताया जा रहा है कि हेडमास्टर की झोला छाप डॉक्टर के इलाज के कारण मोत हो गई। डॉक्टर और उसका एक सहयोगी ने साक्ष्य छुपाने का प्रयास करते हुए हेडमास्टर की लाश को हाईवे पर फेंक आए थे।

झोलाछाप के गलत इलाज से करैरा में सरकारी स्कूल के हेड मास्टर की मौत 12 अक्टूबर को हो गई थी। बुखार आने पर फर्जी डॉक्टर के क्लीनिक पर गुरुवार रात इलाज कराने गए


जानकारी के अनुसार हेड मास्टर नंदकिशोर जाटव उम्र 59 साल पुत्र हरचरन जाटव निवासी होंडा एजेंसी के सामने देवनगर करैरा 12 अक्टूबर गुरुवार की शाम 7 बजे गल्ला मंडी के पास फर्जी क्लीनिक पर झोलाछाप से इलाज कराने गए थे। जिसके बाद हेड मास्टर नंदकिशोर जाटव गुरुवार रात 11 बजे हाइवे रोड किनारे मृत हालत में मिले।


मृत नंद किशोर के मुंह में एक दवाई की टैबलेट फंसी हुई थी और पैर में चप्पल नहीं थी। पास मोबाइल फोन, पैसे एवं डायरी भी नहीं थी। जिसके बाद पुलिस ने पीएम कराकर शव परिजनों को सौंप जांच शुरू कर दी थी।

पुलिस जांच के दौरान मृतक की पत्नी विद्या देवी ने बताया कि बताया कि मेरे पति नंदकिशोर 12 अक्टूबर को शाम करीब 7 बजे अपनी मोटरसाइकिल से इलाज कराने मंडी के पास डॉ. गजराज सिंह गौतम के क्लीनिक पर गए थे फिर कुछ देर बाद डॉ. के कहने पर घर आए और अपने इलाज के कागजात अपने साथ लेकर इलाज कराने वही क्लीनिक पर चले गए।

मेरे पति की क्लीनिक पर इलाज के दौरान डॉक्टर की लापरवाही से एवं गलत दवा देने से मृत्यु हुई है। मेरे पति को मृत्यु उपरान्त साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य से डॉ.गजराज सिंह गौतम व उसके मामा ससुर प्रकाश जाटव दोनों ने मोटर साइकिल से लाकर मुरारी कबाड़े वाले के मकान के पास हाईवे रोड किनारे पटक कर भाग गए। पुलिस ने जांच के बाद झोलाछाप डॉ.गजराज सिंह गौतम सहित उसके मामा ससुर पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज कर लिया है।
G-W2F7VGPV5M