सरकार की सद्बुद्धि के लिए संविदा कर्मचारियों ने किया सुंदरकांड का पाठ- Shivpuri News

शिवपुरी।
नियमितीकरण और नब्बे प्रतिशत मानदेय की मांग को लेकर अड़े संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने हड़ताल के दूसरे दिन मप्र सरकार की सद्बुद्धि के लिए सुंदरकांड का पाठ किया। इससे पूर्व जिला चिकित्सालय के सिविल सर्जन डॉ आरके चौधरी को ज्ञापन सौंपा। संविदा कर्मचारियों की हड़ताल से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं चरमराई गई।

उल्लेखनीय है कि मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर संविदा नौकरी को शोषण व्यवस्था मानकर बंद करने का वादा करने के बाद भी समाप्त न करने पर मुख्यमंत्री पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी 15 दिसम्बर 22 से हड़ताल पर चले गए थे, लेकिन शिवपुरी जिले में मुख्यमंत्री का दौरा होने से जिले के स्वास्थ्य कर्मचारियों ने 16 दिसम्बर 22 से हड़ताल प्रारंभ की और पहले दिन मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपने के बाद से काम पर नहीं लौटे।

संविदा कर्मचारियों के हड़ताल पर चले जाने से जहां एक ओर ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित उप स्वास्थ्य केंद्रों पर ताले लग गए वहीं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र और सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों का कार्य भी प्रभावित हुआ वहीं दूसरी ओर संविदा कर्मचारी जिला चिकित्सालय में बैठकर सोठा वाले हनुमान मंदिर सरकार को सद्बुद्धि के लिए सुंदरकांड का पाठ करते रहे। इससे पूर्व जिला चिकित्सालय शिवपुरी के सिविल सर्जन डॉ आरके चौधरी को ज्ञापन सौंपकर हड़ताल पर जाने की सूचना दी।

प्रभावित हुई स्वास्थ्य सेवाएं

नहीं चली आभा आईडी ए अनमोल एप, चेतना एप, टेली कंसल्टेशन, रिपोर्टिंग ए बिलों का भुगतान, कार्यालयीन पत्राचार, ग्रामीण क्षेत्रों, में टीकाकरण, ओपीडी दवा वितरण, स्टोर के कार्य प्रभावित हुए।