दिल्ली में BKS की गर्जना रैली में शिवपुरी के 90 गांव के किसान करेंगे गर्जना, यह है मांगे- Shivpuri News

शिवपुरी।
भारतीय किसान संघ किसान हितेषी मांगों को लेकर आगामी 19 दिसंबर को दिल्ली में किसान गर्जना रैली का आयोजन करेगा। इसी संदर्भ में आज भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक आयोजित की। इस बैठक में भारतीय किसान संघ के प्रांत के महामंत्री पवन शर्माए क्षेत्रीय संगठन मंत्री महेश पी चौधरी, अखिल भारतीय उपाध्यक्ष राम भरोसे बसोतिया और संभागीय अध्यक्ष कल्याण सिंह यादव सहित भारतीय किसान संघ के कार्यकर्ता और अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

दिल्ली में जुटेंगे 2 लाख किसान

भारतीय किसान संघ के संभाग के अध्यक्ष कल्याण सिंह यादव ने बताया कि 19 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में भारतीय किसान संघ के द्वारा किसान गर्जना रैली का आयोजन किया गया है। इस रैली में भारत वर्ष से लगभग 2 लाख किसान दिल्ली पहुंचेंगे। मध्यप्रदेश से लगभग 25 हजार किसान इस रैली में सम्मिलित होंगे। ग्वालियर संभाग से 12 हजार किसान दिल्ली पहुंचेंगे। इसके अतिरिक्त शिवपुरी जिले के 90 गांव के लगभग साढ़े तीन हजार किसान इस महा किसान गर्जना रैली में शामिल होंगे।

भारतीय किसान संघ के ग्वालियर संभाग अध्यक्ष कल्याण सिंह यादव ने बताया कि किसान अपने परिश्रम के बल पर देश का भंडार भरने में कोई कमी नहीं रख रहे हैं एक जमाने में कई उपजों को विदेशी आयात पर निर्भर रहने वाला भारत आज किसानों के बलबूते पर विदेशों में वहीं उपज को निर्यात कर रहा है। आज देश के भंडार भरकर भी किसानों की स्थिति बदहाल है।

अतिवृष्टि, अनावृष्टि, प्राकृतिक आपदा, तूफान, महंगाई से बचाते हुए जब किसान अपनी उपज को लेकर मंडी में पहुंचता है तो वह ओने पौने दामों में फसल को बेचने को मजबूर हो जाता है किसान की कड़ी मेहनत के बाद भी उसकी उपज का पूरा दाम नहीं मिल पाता है सरकार की गलत नीतियों का दंश किसानों को झेलना पड़ रहा है।

देश में लगभग पांच लाख किसानों ने कर्ज में डूब कर आत्महत्या कर ली है आज किसानों के सामने अपने अस्तित्व को बचाने को लेकर संकट खड़ा हो गया है इसकी रक्षा के लिए भारतीय किसान संघ सरकार के खिलाफ एकजुट होकर आगामी 19 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में एक किसान गर्जना रैली का आयोजन कर रहा है। जिसमें किसानों की विभिन्न मांगों को प्रमुखता से उठाया जाएगा।

ये रहेगी प्रमुख मांगे

लागत के आधार पर लाभकारी मूल्य को लागू कर इसको दिलाना सुनिश्चित करें।
सभी प्रकार के कृषि जिंसों पर जीएसटी समाप्त की जाए।
किसान सम्मान निधि में पर्याप्त बढ़ोतरी की जाए।
कृषि क्षेत्र में जंगली जानवरों से होने वाले नुकसान की भरपाई सरकार करें और देसी गोपाल को को प्रतिमाह नो सौ रुपए प्रति गाय प्रोत्साहन राशि दी जाए।
सरकार द्वारा किसानों को दिए जाने वाले सभी प्रकार के अनुदान सीधे किसानों के खाते में दिए जाएं।
कृषि बीमा पॉलिसी को सरल कर किसान हितेषी बनाया जाए।
देश में कृषि उत्पाद को देखते हुए आयात निर्यात नीति को बनाया जाए।