सिद्धेश्वर ग्राउंड पर धू-धू कर जलेगा 41 फुट का अहंकार का पुतला, फिर काली पर होगा रावण दहन- Shivpuri News

शिवपुरी।
नौ दिनों तक देवी की आराधना के बाद आज विजयदशमी का पर्व उत्साह के साथ मनाया जएगा। शहर में दो जगहों पर प्रमुख रूप से रावण दहन होता है। पहले सिद्धेश्वर मेला ग्राउंड पर रावण दहन का कार्यक्रम होगा और फिर इसके बाद काली माता मंदिर ग्राउंड पर रावण दहन किया जाएगा। इसके साथ ही जगह-जगह बुराई के प्रतीक रावण के पुतलों का दहन किया जाएगा।

पंजाबी परिषद का सिद्धेश्वर मेला ग्राउंड पर रावण बहन शाम 7.30 बजे किया जाएगा। इसके पूर्व नगर में चल समारोह निकाला जाएगा। चल समारोह दोपहर 3.30 बजे जल मंदिर से शुरू होगा जो न्यू ब्लाक, कोतवाली रोड, कोर्ट रोड होता हुआ सिद्धेश्वर पहुंचेगा। चल समारोह में रथ में श्री राम माता जानकी और लक्ष्मण जी के साथ होंगे। इस बार समारोह के लिए उरई से बोल खुलवाए गए हैं। साथ समारोह में शामिल होने वाले बच्चे श्री राम,लक्ष्मण,हनुमान जी,सीता जी आदि का स्वरूप में होगें। वही शासन के युवा इसमें डांडिया करते हुए चलेंगें। चल समारोह करीब सात बजे सिद्धेश्वर ग्राउंड पर पहुंचेगा और 41 फीट ऊंचे रावण का दहन किया जाएगा।

क्षत्रिय समाज करेगा सामूहिक शस्त्र पूजन

क्षत्रिय समाज प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी चल समारोह निकलेगा और सामूहिक शस्त्र पूजन का कार्यक्रम भी आयोजित करेगा। वहीं पुलिस विभाग भी शस्त्र पूजन कर दशहरा पर्व मनाएगा।

क्षत्रिय समाज का चल समारोह चिंताहरण मंदिर से प्रातः 11 बजे प्रारंभ होकर विष्णु मंदिर से होता हुआ काली माता मंदिर, महाराणा प्रताप चौक, माधव चौक, कोर्ट रोड, अस्पताल चौराहा, अग्रसेन चौक, दुर्गादास राठौर चौक से वापस होकर दोपहर 2 बजे ठाकुर बाबा मंदिर पर पहुंचेगा जहां चल समारोह का समापन किया जाएगा।

इसके बाद वहां सामूहिक रूप से शस्त्र पूजा की जाएगी और वहां एक सभा का आयोजन किया जाएगा और अंत में समाज बंधुओं के लिए सहभोज की व्यवस्था की जाएगी। यह कार्यक्रम अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आयोजित किया जाएगा।