थाना प्रभारी को देखकर ASI सटौरिया को लेकर बाइक से भागा, पीछा किया तो सटौरिया गिरा: मौत-हंगामा- Shivpuri News

शिवपुरी। बाईक से गिरकर घायल हुए बाइसराम धाकड़ की मौत ग्वालियर ईलाज के दौरान हो गई। बाइसराम की मौत के बाद मृतक के परिजनों ने एसपी शिवपुरी को लिखित में शिकायत की हैं कि मेरे भाई की मौत पोहरी पुलिस कारण हुई हैं। पुलिस अकारण ही उसका पीछा कर रही थी। जिससे वह गिर गया और पुलिस की गाडी में बैठे दरोगा ने उसके सिर में लठ मार दिया जिससे वह गंभीर घायल हो गया। इलाज के दौरान उसकी मौत हो गइ।

यह कहना है मृतक के भाई शिवराज का

मृतक बाइसराम धाकड़ निवासी झिरी के भाई शिवराज के अनुसार 3 जुलाई को उसका भाई बाइसराम, एक ग्रामीण सेवक व पुलिस विभाग में पदस्थ अमरौदा निवासी दरोगा भूपेंद्र के साथ रिश्तेदारी में गोबरा भीमपुर जा रहा था। इसी क्रम में पुलिस को सूचना मिली कि बाइसराम चुनाव में वोट प्रभावित करने के लिए शराब बांटने के लिए जा रहा है। उक्त सूचना पर पुलिस ने बाईसराम का पीछा किया।

पुलिस की गाड़ी को देख सेवक यादव ने बाइक और तेजी से भगाई तो पुलिस की गाड़ी में बैठे दरोगा ने चलती बाइक पर ही भूपेंद्र के कंधे पर टंगे बैग को पकड़ कर खींच दिया। इस प्रयास में बाइसराम बाइक से जमीन पर गिर गया और बाइसराम के सिर में गंभीर चोट आ गई। इसके बाद पुलिस ने बुलेरो कार रोक कर बाइसराम के सिर में लाठी मार दी। शिवराज के अनुसार इसके बाद पुलिस बाईसराम का इलाज कराने की बजाय उसे थाने ले गई। जब उसकी तबीयत अधिक बिगड़ गई जब परिजनों को सूचित किया।

पोहरी थाना प्रभारी ने कहा मृतक भाग रहा था

पोहरी थाना‎ प्रभारी जितेंद्र चंदेलिया ने बताया कि बाईसराम‎ धाकड़ उम्र 40 साल पुत्र मुचईराम धाकड़‎ निवासी झिरी 3 जुलाई की शाम‎ 6:30 बजे पोहरी थाने के एएसआई‎ भूपेंद्र धुर्वे और सेवक यादव‎ निवासी ग्राम अमरौदा के संग‎ बाइक से जा रहा था। बकौल थाना प्रभारी अपनी बोलोरा गाडी से भ्रमण के दौरान ने अपने‎ तीन माह से गैर हाजिर चल रहे‎ दरोगा को बाईसराम व सेवक‎ यादव के संग देखा तो पीछा किया।‎ पीछा करते वक्त पीछे बैठा‎ बाईसराम धाकड़ गिर गया और‎ सिर में चोट आने पर गंभीर रूप‎ से घायल हो गया।

थाना प्रभारी‎ अपनी गाड़ी से बाईसराम को‎ पहले पोहरी अस्पताल लाए, जहां‎ से जिला अस्पताल भिजवाया।‎ उसी रात 12 बजे ग्वालियर रेफर‎ कर दिया। ग्वालियर के ट्रोमा‎ सेंटर में 5 जुलाई की रात 8:30‎ बजे बाईसराम धाकड़ की इलाज‎ के दौरान मौत हो गई है। पहले से‎ गैरहाजिर एएसआई धुर्वे घटना‎ के बाद भी ड्यूटी पर नहीं लौटा‎ है।

पोहरी‎ थाना प्रभारी जितेंद्र चंदेलिया का‎ कहना है कि एएसआई भूपेंद्र धुर्वे‎ तीन महीने से बिना बताए थाने से‎ गैर हाजिर चल रहे हैं। 3 जुलाई‎ को एएसआई धुर्वे को सटोरिया‎ बाईसराम धाकड़ के संग बाइक‎ पर वर्दी में जाते देखा। हमने‎ रुकने के लिए कहा तो तेज‎ रफ्तार से बाइक चलाने लगा।‎ बाइक पर पीछे बैठा बाईसराम‎ गिर गया। इसके बाद भी एएआई‎ धुर्वे दूसरे व्यक्ति के संग घायल‎ को पड़ा छोड़कर भाग गया।‎ हमने घायल को अस्पताल भर्ती‎ कराया था। बाईसराम धाकड़ के‎ खिलाफ सट्‌टे काे लेकर तीन‎ एफआईआर दर्ज हैं। एक मारपीट‎ का भी केस है।‎

इनका कहना हैं
एसडीओपी से मामले की जांच कराएंगे‎ मृतक पक्ष की शिकायत आई है। पोहरी एसडीओपी‎ से मामले की जांच कराएंगे। मृतक गैर हाजिर चल‎ रहे एएसआई के संग बाइक पर जा रहा था। मौत‎ किसकी गलती के कारण हुई है, पीएम रिपोर्ट और‎ जांच रिपोर्ट से खुलासा होगा।
राजेश सिंह चंदेल,‎ एसपी शिवपुरी‎