प्रत्याशियों से परेशान मतदाता बोले- आधी रात को घरों में घुस आते है, रुपए देकर वोट देने की मांग कर रहे है- Shivpuri News

शिवपुरी।
जिले में पंचायत और नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पूरी तैयारियां प्रारंभ हो गई है। जिले में पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासन ने भी कमर कस ली है। जिले में लगातार चुनाव को व्यवधान पहुंचाने बाले हिस्ट्रीशीटर बदमाशों पर पुलिस नकेल कस रही है। इसी बीच आज जो एसपी राजेश सिंह चंदेल के पास आए ग्रामीणों ने अभ्यर्थियों से परेशान होने की बात कही। ग्रामीणों का आरोप है कि प्रत्याशी उनके घरों में रात में घुस रहे है। जिससे न तो यह पता चल पा रहा है कि घर में चुनाव बाले आ रहे है या चोर

पुलिस अधीक्षक राजे सिंह चंदेल से शिकायत करते हुए ग्राम पतारा के आधा दर्जन से अधिक ग्रामीणों ने आज लिखित आवेदन देते हुए बताया है कि उनकी पंचायत करई अहमदपुर ग्राम पंचायत में चुनाव हो रहे हैं। इस ग्राम पंचायत में बिलुखो, करई, रामपुर एवं पतारा गांव शामिल हैं। पंचायत चुनाव में खड़े हुए प्रत्याशियों ने उनका जीना हराम कर रखा है। पतारा के रहने वाले वोटर पंजाब सिंह ने बताया कि वह प्रत्याशियों से परेशान हो चुके हैं।

प्रत्याशी उनके घर पर कभी भी आ जाते हैं। सुबह महिलाओं के कामकाज का समय होता है, उस समय भी वोट मांगने घर के भीतर आ जाते हैं। पंजाब सिंह का कहना है कि वोट मांगने वाले रात में उन्हें व उनके घर वालों को सोते से उठाते हैं और वोट के बदले पैसों का लालच देते हैं। वोट नहीं देने पर धमकी भरी बात भी करते हैं। हम वोट मांगने वालों से परेशान हो चुके हैं।

ग्राम पतारा के रहने वाले पप्पन का कहना है, उन्हें रात में आकर वोट मांगने वालों ने परेशान कर रखा है। रात 2 बजे भी वोट मांगने वाले घर में घुस आते हैं। वोट देने की बात कहकर पैसे देने लगते हैं। पप्पन का कहना है कि उन्हें इस बात का भी पता नहीं चल पाता कि यह सरपंच के लिए वोट मांग रहे हैं या जनपद सदस्य के लिए। ऐसी स्थिति में अगर रात के समय कोई चोर घर में घुस आया तो उनके घर चोरी की घटना भी घटित हो सकती है। इसकी शिकायत लेकर वह एसपी के पास पहुंचे हैं।

करई अहमदपुर से सरपंच का चुनाव लड़ रहीं ममता संतान सिंह गुर्जर ने भी एसपी से शिकायत की है। प्रत्याशी पति संतान सिंह गुर्जर का कहना कि उसकी पंचायत में डरा, धमकाकर वोटरों पर वोट डालने का दबाव बनाया जा रहा है। वह होने वाले मतदान को शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और भयमुक्त कराए जाने की अर्जी लेकर वे एसपी के पास पहुंचे हैं।