नेशनल पार्क शिवपुरी में पर्यटकों को रिझाने 50% का डिस्काउंट नया रेट कार्ड जारी,बढ़ाई सुविधा- जानिए क्या - Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी का माधव नेशनल पार्क में बाघ आने की से पूर्व पार्क में पर्यटकों की संख्या प्लस करने पार्क प्रबंधन ने 50 प्रतिशत पर्यटन शुल्क का डिस्काउंट दिया है। पार्क के मुख्य वन संरक्षक एवं संचालक सिंह परियोजना शिवपुरी ने सोमवार को नए पर्यटन शुल्क संबंधी आदेश जारी कर दिया है।

यह हैं नया रेट कार्ड

नेशनल पार्क शिवपुरी में कार, जीप व जिप्सी से घूमने पर लोगों को पहले पर्यटन शुल्क 1500 रुपए चुकाना पड़ता था, जिसे घटाकर 750 रुपए कर दिया है। वहीं मिनी बस का पहले करीब 3 हजार चार्ज था जिसे घटाकर 1500 रुपए कर दिया है। नेशनल पार्क प्रबंधन की भविष्य में जीप चलने लगेंगी, उस समय 130 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से भुगतान करना होगा।

सिर्फ एक पर्यटन स्थल के लिए बाइक पर दो सवार का 100 रु. शुल्क

सिर्फ एक पर्यटन स्थल पर जाना है तो बाइक पर दो सैलानियों को 100 रुपए, ऑटो रिक्शा में तीन पर्यटकों के लिए 200 रुपए और कार, जीप व जिप्सी का 300 रुपए किराया देना होगा। पार्क में पंजीकृत कार, जीप व जिप्सी का 250 रुपए चार्ज रखा है। मिनी बस का चार्ज 600 रुपए है।

तीन पर्यटन स्थलों का अलग शुल्क, बाइक सवार दो लोगों को 200 रु. चार्ज

नेशनल के अंदर मौजूद पर्यटक स्थल सेलिंग क्ल, भूरा-खो झरना व टुंडा भरका जाना है तो बाइक पर दो लोगों के लिए 200 रुपए का चार्ज लगेगा। वहीं इन स्थानों छह लोग यदि कार, जीप अथवा जिप्सी से जाते हैं तो पार्क में पंजीकृत जीप का 500 रुपए और अपंजीकृत जीप का 600 रुपए चार्ज देना होगा। वहीं मिनी बस का चार्ज 1200 रुपए रखा है।

वॉच टॉवर से वन्य जीव देखने 150 रु. शुल्क, साइकिलिंग के 75 रु.

पार्क सफारी के अलावा अन्य पर्यटन गतिविधियां के लिए अलग शुल्क रखा है। पैदल ट्रेकिंग व साइकलिंग के लिए प्रति पर्यटक 75 रुपए, मचान, वॉच टॉवर से वन्य जीव देखने के लिए प्रति पर्यटक 150 रुपए और कैंपिंग के लिए प्रति पर्यटक 375 रुपए का शुल्क अदा करना होगा। वहीं प्राइवेट गाइड चार्ज अलग से देना होगा।

एडवेंचर एक्टिविटीज भी मिलेंगी

दूसरी ओर पर्यटकों को अब यहां पर एडवेंचर एक्टिविटीज भी मिलेंगी। जल्द ही पार्क प्रबंधन यहां पर फर्नीश्ड टेंट लगाने जा रहा है। इसमें पर्यटक रूक सकेंगे। इसका किराया निर्धारित कर दिया गया है और टेंट खरीदने की प्रक्रिया चल रही है। यह सेमी लग्जरी टेंट होंगे जिनके अंदर टॉयलेट, बेड जैसी तमाम सुविधाएं होंगी। इसके अलावा अब तक यहां पर ट्रैकिंग की अनुमति नहीं थी। यह अनुमति भी दे दी गई है। इसके लिए गाइड भी नेशनल पार्क ही उपलब्ध कराएगा। ट्रैकिंग और कैंपिंग के लिए कुछ चुनिंदा जगहों को चिन्हित किया गया है।

महिला गाइड का होगा साथ 

रागिनी फाउंडेशन के साथ मिलकर नेशनल पार्क ने 24 महिलाओं को गाइड का प्रशिक्षण दिया था। इसमें से करीब 12 महिलाएं प्रशिक्षण पूरा होने के बाद गाइड की भूमिका भी निभा रही हैं। यह पर्यटकों के लिए पार्क के गेट पर उपलब्ध रहती हैं। ट्रैकिंग के लिए यह महिला गाइड पर्यटकों को रास्ता दिखाएंगी। फिलहाल योजना यह है कि छोटे-छोटे ग्रुप को यहां पर ट्रैकिंग कराई जाएगी। इसके लिए स्पॉट भी तय कर लिए गए हैं।