पढिए ठग के एक रूपए की ताकत: 26 हजार ले गया, समझ नही सके इंडक्टेंस कोचिंग के संचालक- Shivpuri News

Bhopal Samachar
शिवपुरी‎ ।शहर की राजेश्वरी रोड पर संचालित‎ इंडक्टेंस कोचिंग के संचालक विवेक‎ श्रीवास्तव को फौजी बन कर एक‎ युवक ने 26 हज़ार की धोखाधड़ी‎ कर दी। फौजी की बातों में आकर‎ उनके अकाउंटेंट में फौजी के खाते में‎ आया 1 ट्रांसफर कर दिया। और‎ जैसे ही ट्रांजेक्शन किया वैसे ही खाते‎ से 26 हज़ार उड़ गए। अब कोचिंग‎ संचालक ने इस धोखाधड़ी की‎ शिकायत बैंक और पुलिस से की है।‎

कोचिंग संचालक विवेक‎ श्रीवास्तव ने बताया कि मंगलवार‎ शाम 6 बजे के करीब जब वह‎ अकाउंटेंट से हिसाब ले रहे थे, तभी‎ अचानक उनके मोबाइल पर फोन‎ आया। जिसमें सामने वाले ने अपना‎ परिचय जम्मू कश्मीर में पदस्थ‎ फौजी होना बताया। कोचिंग‎ संचालक से फौजी बोला कि वह‎ कक्षा 8 और कक्षा 9 में पढ़ने वाली‎ बेटियों को कोचिंग दिलाना चाहता‎ है, इसकी क्या फीस लगेगी। आप‎ मुझे बता दे। मैं जमा कर देता हूं।‎

ताकि बेटियां अप्रैल से कोचिंग आना‎ शुरू कर दे। कोचिंग संचालक ने‎ कहा कि मार्च के बाद हम प्रवेश‎ देंगे। आप तभी अपनी सीट पक्की‎ करा लें, लेकिन फौजी बने युवक ने‎ झांसा देकर कहा कि वह सरहद पर‎ तैनात है। वहां से शिवपुरी आ नहीं‎ सकता इसलिए अभी उसके पास‎ पैसों की व्यवस्था है, वह ट्रांसफर‎ कर देगा अपना खाता संबंधी‎ जानकारी दे दे।

कोचिंग संचालक‎ विवेक श्रीवास्तव की माने तो जैसे‎ ही उन्होंने ऑनलाइन खाता नंबर की‎ जानकारी दी। वैसे ही मोबाइल पर‎ 1 का पेमेंट आया। कोचिंग‎ संचालक को फिर फोन लगाकर‎ फौजी ने कहा कि मैंने आपके खाते‎ में 1 डाला है, यह भारत सरकार‎ का पैसा है। कृपया इसे वापस कर‎ दे, ताकि मैं कंफर्म हो जाऊं कि यह‎ आपका ही अकाउंट है।

फौजी की‎ बातों में आकर अकाउंट में आया‎ हुआ 1 खाते से ट्रांसफर कर दिया।‎ जिसके बाद अचानक कोचिंग‎ संचालक के खाते से 26000 की‎ रकम गायब हो गई। जब वापस उस‎ नंबर पर फोन लगाया तो फौजी ने‎ चालाकी दिखाते हुए कहा कि मेरे‎ साथ भी ऐसा हुआ है। आप बैंक के‎ अधिकारी से बात करिए और उसने‎ फोन बैंक अधिकारी को पकड़ा दिया।‎

जब बैंक अधिकारी से बात की तो‎ वह बोला कि आपका पैसा वापस आ‎ सकता है, गलत ट्रांजेक्शन हुआ है।‎ आप एक बार और कुछ रकम‎ ट्रांजेक्शन हमारे खाते में करिए। आप‎ की रकम वापस आ जाएगी। कोचिंग‎ संचालक उनकी फिर से धोखाधड़ी‎ की बात समझ गया और उसने दोबारा‎ रकम ऑनलाइन नहीं भेजी, लेकिन‎ तब तक उसके खाते से 26000 का‎ चूना लग चुका था। अब कोचिंग‎ संचालक ने इस मामले में पुलिस और‎ बैंक से शिकायत कर पैसा वापस‎ दिलाने की मांग की है।‎
G-W2F7VGPV5M