बैंक के महाघोटाले के पैसे से खरीदे गए आरोपी पवन यादव के ट्रक को RTO मेडम ने ट्रांसफर कर दिया- Shivpuri News

शिवपुरी।
शिवपुरी जिले के RTO आफिस से खबर आ रही है कि एक ट्रक के ट्रांसफर के मामले में RTO मधु सिंह ने बल्लभ भवन के आदेश को भी टांग दिया। इस ट्रक के ट्रांसफर की फाइल मेडम का चहता दलाल लेकर आया था। मजबूत डीलिंग के आधार पर इस ट्रक को ट्रांसफर कर दिया गया। जबकि बल्लभ भवन के इसी आदेश के तहत कई बसों का ट्रांसफर रुका हुआ है। 

यह ट्रक बैंक के महाघोटाले में आरोपी बनाए गए पवन यादव का हैं। इस ट्रक के ट्रांसफर की चर्चा पूरे RTO कार्यालय में हो रही हैं कि किस आधार पर मेडम ने इस ट्रक को ट्रांसफर कर दिया। वल्लभ भवन और सहकारिता विभाग द्वारा बीते दिनों आदेश जारी किया गया था कि इस घोटाले के आरोपी राकेश पाराशर,पिंकी यादव और पवन यादव की किसी भी संपत्ति का कही भी कोई विक्रय नहीं किया जाए।

यह प्रॉपर्टी सहकारिता के पैसे से खरीदी गई है। इसी दौरान गगन ट्रेवल्स ने भी रामेश्वर धाम को अपनी कई बसों को बेच दिया था। परंतु इन बसों को नाम नहीं कराया। जिसके चलते अब इस मामले के खुल जाने के बाद इन बसों के ट्रांसफर की प्रोसेस RTO कार्यालय पहुंची। जहां RTO कार्यालय ने इन बसों के ट्रांसफर से पहले सहकारिता को पत्र लिखकर बसों को ट्रांसफर करने की बात कही। जिस पर से सहकारिता विभाग ने इस बसों के ट्रांसफर पर रोक लगा दी।

परंतु इसी दौरान पवन यादव का ट्रक क्रमांक एमपी 33 एच 7999 के ट्रांसफर की फाइल 12 दिसंबर को जब RTO कार्यालय में दलाल के जरिए लगाई। महज दलाल ने अपने फायदे के लिए इस फाइल को जब RTO मेडम के पास भेजा गया तो महज 30 दिसंबर को इस फाइल को RTO द्धारा ट्रांसफर कर दिया गया। यह ट्रक पहले पवन यादव पुत्र धानसिंह यादव निवासी काली पहाड़ी के नाम पर रजिस्टर्ड था। अब इस घोटाले के मुख्य आरोपियों को ही इस तरह का संरक्षण समझ से परे है।

कम से कम 30 लाख का तो होगा यह ट्रक

यह घोटाला पूरे मध्यप्रदेश में चर्चा का विषय है। इस एक घोटाले ने इस विभाग को पूरी तरह से कंगाल कर दिया है। अब मध्यप्रदेश शासन इस घोटाले से मुख्य आरोपियों से 80 करोड़ से जितनी हो सके उतनी बसूली करने की तैयारी में है। इसी बीच महज एक दलाल ने अपने 10 से 15 हजार की दलाली के चक्कर में शासन को लगभग 30 लाख का चूना लगा दिया। अगर यह ट्रक नहीं बिकता तो शायद सरकार को लगभग 30 लाख रुपए की और रिकवरी हो सकती थी। अब यह ट्रक राजू पवैया पुत्र जगमोहन सिंह ग्राम सतवाडा तहसील शिवपुरी के नाम ट्रांसफर कर दी।