जिले के 97 गांव में गिरे ओलों ने बिगाड़ा किसानों का गणित,17, 403 हेक्टेयर फसल का नुकसान- Shivpuri News

शिवपुरी।
हाल ही में हुई ओलावृष्टि से शिवपुरी जिले में प्रारंभिक आकलन में 97 गांव में हजारों हेक्टेयर फसल का भारी नुकसान हुआ है। शिवपुरी जिले में सर्वाधिक 17,403 हेक्टेयर क्षेत्र की फसल को नुकसान पहुंचा है। यहां पर 25 प्रतिशत से अधिक फसल पूरी तरह से तबाह हो चुकी है। कई खेतों में पूरी की पूरी फसल का नुकसान हो गया है।

धनिया, मसूर, गेहूं, चना, सरसों आदि की फसल का नुकसान हुआ है। सबसे ज्यादा नुकसान कोलारस तहसील में हुआ है। इसके अतिरिक्त बैराड़ व पिछोर में भी कुछ गांव में ओले गिरने से फसल को नुकसान पहुंचा है। बीते दिनों रविवार को कलेक्टर खेतों पर पहुंचे और राजस्व अमले से मौके पर ही नक्शे बुलवाकर नुकसान का आंकलन किया। सोमवार से विस्तृत सर्वे शुरू किया गया हैं।

कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह ने बताया कि अभी प्रारंभिक आकलन किया गया है। नुकसान का विस्तृत सर्वे भी कराया जाएगा। अभी किसानों को उनके ब्लॉक में मौजूद इंश्योरेंस कंपनी के एजेंट से मिलकर नुकसान की जानकारी देना चाहिए। यह प्राथमिक कदम बहुत जरूरी है। इसके प्रावधानों के अनुसार किसानों को कुछ प्राथमिक मदद जल्द ही मिल जाती है।

सभी 8 ब्लॉक में कृषि विस्तार अधिकारियों को निर्देशित किया है कि एक व्यक्ति की बीमा प्रतिनिधि के रूप में कार्यालय में उपस्थिति सुनिश्चित करें। यदि किसानों ने यह कदम उठाया तो उनके मदद के रास्ते कुछ आसान हो जाएंगे। प्रशासन भी अपनी ओर से पूरे प्रयास करने में लगा हुआ हैं।

इस तरह प्रति हेक्टेयर होता हैं उत्पादन

यदि फसलों के उत्पादन पर गौर किया जाए तो कृषि विस्तार अधिकारी यू एस तोमर के अनुसार सरसों का प्रति 12 क्विंटल पर हेक्टेयर, 13-14 क्विंटल पर हेक्टेयर, मसूर का 15 क्विंटल पर हेक्टेयर पैदावार बताई जा रही हैं। वहीं धनिया न के बार मात्रा में शिवपुरी जिले में पैदावार होती हैं।

50 प्रतिशत किसानों ने ही कराया बीमा

यदि कृषि विस्तार अधिकारी द्वारा बताया गया हैं कि इस वर्ष शिवपुरी जिले में 97 गांव की ऑनलाइन रिपोर्ट के अनुसार लगभग 50 प्रतिशत किसानों ने ही अपनी फसलों का बीमा कराया हैं। कुछ किसानों बीमा कराया लेकिन प्रीमियम नहीं भरा हैं।