झौंपडी में लगी आग को बुझाने में छूटे पुलिस के पसीने, भीड को बढता देख छोडे अंश्रू गैस के गोले- Shivpuri News

शिवपुरी। आज उस समय पुलिस के पसीने छूट गए जब झौंपडी में लगी आग को बुझाने में पुलिस पूरी तरह से जुट गई। परंतु आग इतनी तेज थी कि पुलिस को इस आग को बुझाने में पसीने छूट गए। यह आग किसी घर या फैक्ट्री में नहीं बल्कि पुलिस के बार्षिक निरीक्षण के दौरान पुलिस परेड ग्राउण्ड में घटित हुई।

दरअसल हुआ यह कि बलबा की मॉक ड्रिल के दौरान एक झोंपड़ी में लगी आग को बुझाने का प्रदर्शन किया गया, लेकिन आग लगाने के लिए उपयोग किए गए पेट्रोल की मात्रा अधिक हो जाने के कारण पुलिस कर्मियों द्वारा तीन से चार बार झोपड़ी की आग बुझाई गई, लेकिन झोपड़ी में बार-बार छोटी सी चिंगारी से भी आग पकड़ जा रही थी। ऐसे में झोंपड़ी में लगी आग को बुझाने में पुलिस वालों को काफी मशक्कत करनी पड़ गई।

इसके अलाबा ग्वालियर रेंज के आईजी अविनाश शर्मा शिवपुरी में पुलिस के वार्षिक शिवपुरी में ग्वालियर रेंज के आईजी अविनाश शर्मा ने गुरुवार को शिवपुरी में पुलिस परेड का वार्षिक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जब आईजी वाहनों की जांच परेड कर रहे थे। तभी एक एएसआई ने व्योम वाहन की खराब लाइट को सही बताकर उनसे कहा था कि लाइट तो सही है, लेकिन मूव नहीं कर रही है।

इस बात पर आईजी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि अगर खराब है तो खराब बताओ न, गुमराह क्यों कर रहे हो। उन्होंने एसपी को गुमराह करने वाले पुलिसकर्मी पर 1 हजार रुपए का दंड लगाने के निर्देश दिए। इसके अलावा उन लोगों को पुरस्कार भी दिया जिन्होंने वाहनों का अच्छे से रखरखाव किया था। इनमें एसपी के वाहन का चालक, एमटीओ, आरआई, देहात थाने के वाहन के स्टाफ सहित कई अन्य वाहनों का स्टाफ शामिल है।

निरीक्षण के दौरान भीड़ पर काबू करने के लिए न सिर्फ अश्रु गैस के गोले दागे गए, बल्कि उन पर लाठी चार्ज भी किया गया। इस दौरान एक व्यक्ति को चोट भी लगी, जिसे अस्पताल भर्ती कराया गया। ग्वालियर आईजी अविनाश शर्मा ने कहा कि निरीक्षण में छोटी-मोटी कमियों को छोड़ कर बाकी सब ठीक पाया गया है। जो कमियां पाई गई हैं उनमें सुधार के निर्देश दिए गए हैं।