दो विभागों की सीमा रेखा का दंश झेल रहे हैं शहर के नागरिक, शिवपुरी की शान में गुस्ताखी करता है यह गढडा- Shivpuri News

शिवपुरी। नगर पालिका और रेलवे विभाग की सीमा विवाद के दंश शहर के नागरिको को झेलना पडा रहा हैं। शहर के बाईपास से रेलवे स्टेशन को जाने वाली रोड पर एक बडा गडढा हो गया हैं। इस लंबे चौडे गढडे में डेढ फुट पानी भरा हैं। इस सडक पर से प्रतिदिन सैकडो वाहन गुजरते हैं और परेशान होते है,लेकिन शिवपुरी में बेशर्म विभाग से मशहूर नगर पालिका शिवपुरी इस गढडे में भराव कर मुरम नही डलवा सकी हैं।

इस सड़क से प्रतिदिन 1 दर्जन स्कूली बसे भी निकलती हैं। प्रतिदिन इस पानी मे वाहन चालक गिरते हैं पैदल स्कूल जाने वाले बच्चे भी सड़क पर गिर जाते है। कॉलोनी वासियो का कहना है। कि हम कई बार शिकायत कर चुके हैं। इस पूरे क्षेत्र में सडके नहीं हैं। अवैध कॉलोनी काटी गई हैंं कॉलोनी का भी यही हाल है। इस पर कॉलोनी वासियों को कहना है कि हमें इस कॉलोनी में कोई मूलभूत सुविधा नहीं हैं यहां कि सडक अब दलदल में बदल चुकी हैं।

इस रोड़ से 4 कॉलानी के निवासी और रेलवे स्टेशन के लिए शहर के नागरिक प्रतिदिन निकलते हैं। इस सड़क पर 90 प्रतिशत से अधिक सीसी रोड़ नगर पालिका करा चुकी हैं, लेकिन रेलवे और नगर पालिका शिवपुरी के सीमा विवाद के चलते मात्र 60 फुट का टुकड़ा बचा हैं जिस पर लगभग डेढ फुट पानी भरा हैं। पानी भरे इस गड्ढे से ही प्रतिदिन सेकड़ों वाहन निकलते हैं। इस सड़क से प्रतिदिन 1 दर्जन स्कूली बसे भी निकलती हैं,आम नागरिको को यहां से निकलने में काफी दिक्कते झेलनी पड़ती हैं।

कृष्णा नगर निवासी कमल धाकड ने कहा कि मेरे बच्चे इस मार्ग से स्कूल मैं उन्है लेने छोडने स्वयं जाता हूं। अगर बच्चे अकेले स्कूल जाते हैं तो वह कीचड़ में गिर जाते हैं इसमें बड़े—बड़े पत्थर भी है। जिनसे बच्चों को चोट भी लग जाती है। कुछ दिन पहले मेरी बच्ची भी इसी कीचड़ में गिर गई थी जिसके बाद उसे चोटे भी आई हैं।

कॉलोनी वासियों ने नगरपालिका में कई बार इस विषय को लेकर शिकायत भी की है, लेकिन नगरपालिका द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई है यहां से नगरपालिका के अधिकारी और प्रशासन के लोग भी निकलते हैं,लेकिन इस रास्ते की ओर उनका ध्यान नहीं है। कॉलोनी वासियों के लिए रेलवे स्टेशन जाने का मुख्य रास्ता यही हैं। यहां से प्रतिदिन लोगों का आना जाना लगा रहता है जिससे हर रोज किसी ना किसी के साथ इन गहरे गड्डों में गिर कर दुर्घटना होती रहती है।

वही कृष्णा नगर निवसी महिला ममता धाकड़ ने बताया कि सड़के खराब होने के कारण हमारे बच्चे स्कूल नहीं जा पाते और लाईट, पानी की कोई सुविधा नहीं है प्राईवेट नल आते है वो भी कभी कभार आते है। सुविधा के नाम पर इस कॉलोनी कुछ भी नही हैं।

शिवपुरी की शान मे गुस्ताकी कर रहे गढडे से आटो चालक निकला आटो चालक ने बताया कि यहां से रोज आना जाना रहता है यहां का गड्डा इतना चौड़ा है कि सवारियों को ले जाता हूॅ। इतना पानी भर जाता है कि आटो बंद हो जाती है कि सवारियों को भी धक्का देना पड़ता है बहुत बुरी हालत हो जाती है कभी—कभी तो सवारियां भी गाली देने लगती है। और रात में तो यह गड्डा दिखाई ही नहीं देता हैं। रात में अंधेरा होने के कारण पता ही नहीं चलता की आटो के पहिए कहां जा रहे हैं।

वही एक और मोटर साईकिल से राहगीर निकले उन्होन अपना नाम उमेश बताया इस गड्डे में कीचड़ जमा हो जाती हैं। फिसलने की दिक्कत रहती है कई वार बाईक स्लीप हुई है। गड्डा इतना बड़ा है कि उसमें कुछ दिखता ही नहीं हैं हम इस गड्डे को पार करने में भी काफी दिक्कते आती है हम लोग बहुत ज्यादा परेशान है।