चंद मिनिटो में खुली बेशर्म विभाग की पोल:नालिया फुल,सडको पर 6 इंच पानी

शिवपुरी। शहर मेें शनिवार की शाम हुई कुछ मिनटों की बारिश के बाद कृष्णपुरम और विजयपुरम कॉलोनी में नालियो में पानी के निकास ओर सफाई की उचित व्यवस्था ना होने के कारण नालियो में पानी आवरफ्लो हो गया,जिससे पानी सडको पर आ गया। सडको पर लगभग 6 इंच पानी भर गया। जिससे कॉलानी के पुराने मकान जिनकी उंचाई कम थी उनमें पानी भर गया।

ज्ञात हो कि शहर में नालियों का निर्माण सही ढंग से नहीं होने व इसकी सफाई भी निरंतर ना होने के कारण बारिश होने पर पानी का समा नहीं पाता जिसके चलते पानी सडकों पर आ जाता है और सडकें तालाब मे बदल जाती हैं।

शनिवार की शाम तेज बारिश होने पर शहर की प्रसिद्ध कॉलोनी कृष्णपुरम और विजयपुरम में सडकों पर पानी ही पानी नजर आया। साथ ही विजयपुरम कॉलानी में बारिश के पानी के निकास के लिए अभी तक नगरपालिका प्रशासन द्वारा नाली निर्माण कार्य नहीं कराया गया। जिसके चलते सड़को एवं खाली पड़े प्लाटों में पानी भर जाता है और पानी सडता है जो बदबू मारता है जिसमें मच्छर पैदा होने लगे हैं। रास्तों पर पानी भर जाने के कारण कॉलोनी वासियों का पैदल बाजार चलने मे भी समस्यों का सामना करना पड़ता है।

बारिश के बाद ठहरे हुए पानी मे पड़ी गंदगी से बदबू आने लगती है। एवं कीड़े मकोडे, मच्छर इत्यादि जीव पैदा होने से कॉलोनी वासियों को गंभीर बीमारियों का खतरा भी बना रहता है। वहीं दूसरी ओर शहर में आबारा घूम रहे सुअरों का भी गंदगी के चलते जमाबड़ा लगा रहता है।

सडको से हटे सुअर अब पहुंचे कॉलोनियो में
पिछले दिनो से शहर की हटे सुअर हटाने के लिए एडवोकेट ने नपा को नोटिस भेजा हैं जिससे नपा प्रेशर में आ गई और अब सडको पर सुअर नही दिख रहे लेकिन कॉलोनियो में सुअरो की संख्या में इजाफा हो गया है।

इस कारण फतेहपुर रोड़ एवं विजयपुरम कॉलोनी में सुअरो की संख्या बढ गईे हैं जिसके चलते आये दिन फतेहपुर रोड़ पर एक्सीडेन्ट की घटनायें निरंतर देखने को मिल रही है। इस ओर नगरपालिका के लापरवाह अधिकारी का कोई ध्यान नही है।

कॉलानी वासी आये दिन अपनी शिकायतों को लेकर नगरपालिका जिसे सरकार का बेशर्म विभाग कहा जता हैं इस बेशर्म विभाग मे आवेदन लगाते रहे हैं लेकिन इसके बावजूद भी जिम्मेदार अधिकारी का इन समस्याओं पर कोई ध्यान नही देते। जब इस संबंध मे नगरपालिका के नवगत सीएमओ शैलेन्द्र अवस्थी को फोन लगाया गया तो साहब अपना फोन उठाना भी मुनासिफ नही समझते।