Shivpuri News- सिंध के कनेक्शन नही उगल रहे हैं पानी, नाराज जनता पहुंची नपा: कहा प्रभारी मंत्री से करेंगें शिकायत

शिवपुरी। सिंध जलावर्धन योजना के तहत शहर में नल कनेक्शनों की प्रक्रिया चल रही है। कई वार्ड ऐसे हैं, जिनमें नलों के कनेक्शन तो हो चुके हैं। लेकिन नलों से पानी नहीं आ रहा है। ऐसी स्थिति में इस भीषण गर्मी में लोगों को पेजयल की किल्लत हो रही है। वहीं जिन लोगों के कनेक्शन हो गए हैं, उनके बिल भी बिना पानी के शुरू हो गए हैें।

जिससे आमजन परेशान है। वार्ड 21 में पानी की किल्लत से परेशान होकर वार्डवासी नपा के खिलाफ लामबंद हो गए हैं और शिवपुरी के दो दिवसीय प्रवास पर आ रहे प्रभारी मंत्री से इस समस्या को लेकर शिकायत करने की बात कह रहे हैं।

जानकारी के अनुसार वार्ड नम्बर 21 में पेयजल समस्या काफी गंभीर बनी हुई है। लोगों ने घरों में नलों के कनेक्शन इस उम्मीद से कराए थे कि उन्हें सिंध का पानी नसीब होगा और पानी की हो रही किल्लत से निजात मिलेगी। लेकिन नल कनेक्शनों के बाद भी सिंध का पानी उनके घरों तक नहीं आया।

जिससे वार्डवासियों की उम्मीद पर पानी फिर गया। ऐसी स्थिति में लोगों का नपा के खिलाफ गुस्सा फूट गया और लोग नपा के खिलाफ एकत्रित होकर आंदोलन की राह तैयार कर रहे हैं। इससे पूर्व वार्ड के लोग शिवपुरी प्रवास पर आने वाले प्रभारी मंत्री महेंद्र सिंह सिसौदिया से मुलाकात कर उनके समक्ष अपनी समस्या रखेंगे और उनसे मांग करेंगे कि उनके नलों से जल्द से जल्द पानी घरों तक पहुंचाया जाए।

रसीद कटाए महीनों बीते लेकिन नहीं हुए कनेक्शन

नगर पालिका ने सिंध जलावर्धन योजना के तहत घर-घर नल कनेक्शन देने की योजना तैयार की है और नलों के कनेक्शनों के लिए शहरवासी नगर पालिका में पहुंच रहे हैं। जहां वह 2700 रूपए नल कनेक्शन की राशि जमा इस उम्मीद से कर रहे हैं कि उन्हें पानी की किल्लत से निजात मिलेगी।

लेकिन नगर पालिका और ठेकेदारों की लापरवाही के कारण नल कनेक्शन की रसीद कटने के दो-दो माह बीत जाने के बाद भी लोगों के कनेक्शन नहीं हो रहे हंै और उन्हें अब पानी का बिल भी आना शुरू हो गया है। ऐसी स्थिति में आमजन ठेकेदारों की लापरवाही के कारण आर्थिक नुकसान भी झेल रहे हैं।

वार्ड नम्बर 27 में रहने वाले सरजू बाई यादव का कहना है कि उन्होंने अपने नाम से दो कनेक्शनों के लिए 5400 रूपए एक माह पूर्व जमा किए थे। जिसकी रसीद भी उनके पास है। लेकिन उनका आज तक कनेक्शन नहीं हुआ। ठेकेदार श्रीलाल कुशवाह से कई बार वह सम्पर्क कर चुकी हैं। लेकिन हर बार ठेकेदार उन्हें कनेक्शन करने का आश्वासन देकर मामले को टाल रहा है।

जहां पानी की लाईन ही नहीं वहां भी नपा ने काट दीं रसीदें

शहर में कई स्थान ऐसे हैं, जहां पानी की लाईन डाली ही नहीं गई है और नगर पालिका ने वहां के लोगों के कनेक्शन करने के लिए 2700 रूपए जमा कराकर उन्हें रसीद भी थमा दी है।

ग्वालियर वायपास पर एल एण्ड टी धर्मकांटे के पास पानी की पाईप लाईन न होने के बावजूद भी वहां रहने वाले ललित मोहन गोयल की नगर पालिका ने 2700 रूपए की रसीद यह कहकर काट दी कि वहां लाईन डली हुई है और कनेक्शन लेने पर उन्हें नल कनेक्शन मिल जाएगा। रसीद कटाएं लगभग ढ़ाई माह से ज्यादा हो गया।

इसके बाद भी वहां कनेक्शन नहीं कराया गया। जब श्री गोयल ने नगर पालिका के अधिकारियों से कनेक्शन न होने की शिकायत की तो उन्हें बताया गया कि उस जगह तो लाईन ही नहीं है। इसके बाद श्री गोयल अब नगर पालिका की इस लापरवाही के चलते न्यायालय की शरण लेने की तैयारी कर रहे हैें।