नई शिक्षा नीति: अब विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के छात्र NCC को विषय के रूप में चुन सकते हैं - Shivpuri News

शिवपुरी। नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र NCC को एक विषय के रूप में चुन सकेंगे यह कहना है 35 मध्य प्रदेश बटालियन एनसीसी के कमान अधिकारी कर्नल धीरेंद्र सिंह का।

कर्नल धीरेंद्र सिंह ग्रुप कमांडर ब्रिगेडियर विनय मोहन शर्मा के निर्देश पर 35बटालियन के अंतर्गत आने वाले विभिन्न जिलों गुना शिवपुरी श्योपुर दतिया के NCC अधिकारियों की ऑनलाइन वर्चुअल बैठक में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

कर्नल सिंह के अनुसार अब एनसीसी कैडेट बी तथा सी प्रमाण पत्र प्राप्त करने के साथ-साथ अकादमिक क्रेडिट भी प्राप्त कर सकेंगे इस नए पाठ्यक्रम को यूजीसी की गाइडलाइन के अनुसार 6 सेमेस्टर या 3 वर्षीय पाठ्यक्रम में विभाजित किया गया है कर्नल धीरेंद्र सिंह के अनुसार यह पाठ्यक्रम नई शिक्षा नीति 2020 के अनुरूप होने के कारण एनसीसी कैडेटों को भविष्य में बेहतर रोजगार के अवसर भी प्रदान करेगा।

यह है पाठ्यक्रम के लाभ:
यह पाठ्यक्रम सिद्धांत और व्यवहार पर आधारित होगा जिसमें कैडेट सैन्य जानकारी व उसके इतिहास के साथ-साथ शिविरों के माध्यम से मैप रीडिंग फील्ड क्राफ्ट युद्ध कौशल हथियार प्रशिक्षण प्राप्त करने के साथ-साथ आपदा प्रबंधन व राष्ट्रीय सुरक्षा प्रबंधन भी सीख सकेंगे इसमें युवाओं को सैन्य संगठनों में रोजगार प्राप्त करने में आसानी होगी।

इस कोर्स के कारण युवाओं की शारीरिक व मानसिक क्षमता में भी वृद्धि होगी यह कोर्स करने वाले छात्रों के पास कुशल अनुभव होने के साथ-साथ डिग्री योग्यता भी होगी जिससे निजी सुरक्षा कंपनियों में भी रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे।

वर्चुअल मीटिंग में शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय शिवपुरी की अल्फा कंपनी के NCC अधिकारी लेफ्टिनेंट गजेंद्र कुमार सक्सेना ने शिवपुरी जिले का प्रतिनिधित्व किया साथ ही इस मीटिंग में गुना शिवपुर दतिया जिले के एनसीसी अधिकारी तथा कन्या महाविद्यालय की एनसीसी अधिकारी लेफ्टिनेंट anita kemore भी उपस्थित रहे।

जैसा की विधित है 35 बटालियन एनसीसी शिवपुरी के अंतर्गत 4 जिले शिवपुरी गुना दतिया और श्योपुर आते हैं जिनके अंतर्गत 6 सीनियर डिवीजन यूनिट महाविद्यालयों में संचालित हैं जिसमें लगभग 700 सीनियर डिवीजन एनसीसी कैडेट वर्तमान में विभिन्न महाविद्यालयों में NCC इकाइयों में दर्ज हैं।