कंट्रोल संचालक ले रहा था फ्री के राशन का पैसा, अधिकारी ने वापस कराए: लेकिन कार्यवाही नही की - karera News

दिनारा।एक तरफ प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान शासन की योजनाओं का लाभ गरीब बर्ग को दश भंडारो का पिटारा खोल कर दे रहै है। वहीं दूसरी तरफ उनकी घोषणा पर कंट्रोल दुकान संचालकों द्वारा अमल नहीं किया जा रहा। कंट्रोल संचालक मनमर्जी के मुताबिक राशन कम दे रहै है। वर्तमान मे कोरोना काल का दौर चल रहा है आम जनता गरीब परेशान है।

मगर इस दौर में भी गरीब की कोई सुनने वाला नहीं हैं। माननीय मुख्यमंत्री के द्वारा 3 महीने का राशन गरीबों को मुफ्त दिया जाने की घोषणा के, उचित मूल्य दुकान चालकों की मनमर्जी से यह राशन गरीबों को सही नहीं दिया जा रहा है। इसके कारण पात्रता बाले हितग्राहियों का परेशानी का सबब बना हुआ है।

इनका कहना
हमे पिछले तीन माह से राशन नहीं मिलने से हमारी उदर पूर्ति नहीं होने से हम कोरोना काल मे परेशानियों से गुजारा कर रहे। कोई सुनवाई नहीं (पीडित नाम नीरज रावत)

वही इस मामले में खादय अधिकारी का कहा कि मुझे सारी जानकारी है अगर आप सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे थे इसलिए संचालक ने दुकान बंद की। हां मेरे पास खबर आई थी पैसे लेकर राशन दिया गया। मैंने संचालक से बोल दिया लोगों के पैसे वापस कर दो। जब हमारे द्वारा कहा गया कार्रवाई क्यों नहीं की तो उचित जवाब नहीं दे पाए।