KARERA अस्पताल में 3 डॉक्टरों पर हमला, घटना सीसीटीवी में कैद

करैरा। करैरा के सामुदायिक अस्पताल में भर्ती एक कोविड के मरीज का सीटी स्कैन करवाने के लिए 108 एंबुलेंस से शिवपुरी रैफर करना मंहगा पड गया। मरीज के परिजन नाराज हो गए और उन्होने करैरा के अस्पताल में पदस्थ 3 डॉक्टरो के साथ मारपीट कर दी। जब डॉक्टर अपने बचाव के लिए भागे तो परिजनो ने उन्है दौडा-दौडकर पीटा।

जानकारी के अनुसार डॉक्टर देवेंद्र खरे, डॉक्टर अंकित बाजौरिया, डॉक्टर अखिलेश शर्मा, डॉक्टर बीके रावत ने पुलिस थाने जाकर टीआई को लिखित शिकायत की है कि सामुदायिक अस्पताल करैरा के कोविड वार्ड में मरीज बादामसिंह जाटव भर्ती थे। तीन दिन पहले भर्ती करते वक्त उनकी हालत गंभीर थी और ऑक्सीजन 60 प्रतिशत था।

ऑक्सीजन देकर तुरंत इलाज दिया और आज उनकी स्थिति बहुत अच्छी थी। उनका ऑक्सीजन लेवल 96 प्रतिशत था तभी उनके चार परिजन आए जिनमें सूरज, मनोज और दो महिलाएं थीं।

डॉक्टरों का कहना है कि परिजन सूरज और मनोज हमसे सबूत मांगने लगे कि मरीज का क्या इलाज किया है। जब हमने बोला कि उनका इलाज अच्छा चल रहा है और दो दिन बाद हम उनको डिस्चार्ज कर देंगे।

बार-बार सबूत मांगने पर हमने उनको सीटी स्कैन करवाने की सलाह दी और 108 एंबुलेंस से शिवपुरी रैफर किया। इसी बात से खफा होकर सूरज और मनोज ने हम तीन डॉक्टरों पर हमला कर दिया। जिसमें हमें हाथ व पैर में चोट लगी है।

घटना अस्पताल के सीसीटीवी कैमरे मे भी कैद हुई है, जिसमें परिजन, डॉक्टर के पीछे दौड़ते हुए आ रहे हैं और उनकी मारपीट कर रहे हैं। महिला परिजन भी चप्पल लेकर मारने आईं। हालांकि पुलिस ने करैरा थाने में धारा 353, 332, 186, 269, 270 के तहत केस दर्ज कर लिया है।