उपज केन्द्रो पर हो रहे है किसान परेशान,बिना सीसीटीवी के कैसे हो खरीदी में पारदर्शिता - Shivpuri News

शिवपुरी। अन्नदाता को उनकी उपज का दाम सही मिले और उनके साथ हो रही लूट खसोट पर अंकुश लगे इसके लिए सरकार ने खरीदी केंद्र बनाए जिससे किसानों को उ नकी उपज का सही दाम मिल सके लेकिन सरकार के तमाम दावे इन केंद्रों पर खोखले साबित हो रहे हैं।

ऐसा ही नजारा आज कोलारस के खरीदी केंद्रों पर देखने को मिला जहां सीसीटीवी लगाने के निर्देश तो आला अधिकारियों ने दिए लेकिन उनके आदेशों को धता बताते हुए बिना सीसीटीवी कैमरे के ही तुलावट की जा रही है और किसानों से जमकर भ्रष्टाचार किया जा रहा है।

सीसीटीवी के निर्देश हवा

खरीदी केंद्रों पर किसानों के लिए पानी, छावं से लेकर अन्य इंतजाम करने थे जबकि किसानों से किसी भी प्रकार की लूट खसोट न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए थे लेकिन कागजों में ही तैयारी हो गई और सीसीटीवी कैमरे भी लग गए लेकिन हकीकत में यह सब कोसो दूर है।

किसानों से जमकर लूट

कोलारस के खीरीदी केंद्रों की बात करें तो यहां बीते रेाज ही किसानों से तुलावट के नाम पर 500 रूपए ट्रोली तो गेहूं की गुणवत्ता खराब बताकर किसानों से दो दो हजार रूपए तक ऐंठ लिए गए थे।

जिम्मेदार केंद्रों से गायब

जिन जिम्मेदारों की डयूटी खरीदी केंद्रों पर लगाई गई है वह के्द्रों पर तैनात ही नहीं रहते हैं वह तो कंपनी के लोगों के भरोसे पूरा काम छोड वहां से भाग लेते हैं जिससे यह प्रायवेट कर्मचारी किसानों से लूट करने में लगे हुए हैं।

पिछले साल भी हुई थी खरीदी में धांधली

पिछले साल भी को लारस के खरीदी केंंद्रों पर धांधली हुई थी इतना ही नहीं हजारों क्विंटल गेहूं भी गीला कर दिया गया था। जिसके बाद भोपाल तक की टीम को शिवपुरी आना पडा था ऐसे में कई किसानों का भुगतान तक रो दिया गया था।

इनका कहना हैं
खरीद केन्द्रो पर गडबडी की शिकायते मिल रही हैं,गडबडी करने वाले सर्वेयरो को हटा दिया गया है। शासन के निर्देशानुसार कोविड के नियमो को पालन करते हुए व्यवस्थाए की जा रही हैं जिन खरीद केन्द्रो पर कैमरे नही लगे हैं,वहां कैमरो की व्यवस्थाए की जा रही है।
गणेश जयसवाल,एसडीएम कोलारस