संक्रमण को हराने का संकल्प: समाजसेवी भी आए आगे, बनाया 50 पलंग का क्वारंटाइन सेंटर, भोजन सुविधा - Badarwas News

बदरवास। कोरोना को काबू में करने के लिए कोरोना कफ्र्यू लगाया गया हैं,लेकिन कोरोना की चैन क्रेक नही हो रही हैं,कोरोना की बढती चैन में ब्रेक लगाने के लिए समाजसेवियो ने भी संक्रमण को हराने का संकल्प लेते हुए,समाज सेवी भी आगे हा रहे हैं,बदरवास में 50 पलंग का क्वारेंटाईन सेंटर एक निजी स्कूल में तैयार किया गया है।

मानसिक दिव्यांगों के लिए संचालित अपना घर आश्रम के अध्यक्ष रमेशचंद्र अग्रवाल ने बदरवास में नगर परिषद के सहयोग से निजी स्कूल में क्वारिन्टाइन सेंटर तैयार कराया है। यहां 50 पलंग की व्यवस्था की गई है, ताकि बाहर लोगों को आसानी से रहने की सुविधा मिल सके।

शिशु मंदिर स्कूल में बनाया गया 50 पलंग का क्वारेंटाइन सेंटर

नगर के सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल में 50 पलंग बिछाकर क्वारिन्टाइन सेंटर तैयार कराया है। बदरवास नगर में बाहर से आने वाले संदिग्ध मरीजों को क्वारिन्टाइन सेंटर में रहने की सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

साथ ही जिन कोरोना मरीजों के घर में पर्याप्त जगह नहीं है, ऐसे मरीजों को भी स्कूल के दूसरे कमरों में आइसोलेट करने की व्यवस्था कराई जाएगी। कोरोना की चैन हर हाल में तोड़ना है। इसलिए लोगों को भी सोशल डिस्टेंस का पालन करने के साथ मास्क हर हाल में इस्तेमाल करना जरूरी है।

क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती होने वाले मरीजों को भोजन मुहैया कराया जाएगा

क्वारेंटाइन सेंटर में रहने वालों को अपना घर आश्रम के अध्यक्ष रमेशचंद्र अग्रवाल अपनी तरफ से मुफ्त खाने की व्यवस्था कराएंगे। अग्रवाल ने बताया कि नगर परिषद सीएमओ सौरभ गौड़ व उनके स्टाफ के सहयोग से क्वारेंटाइन सेंटर में व्यवस्थाएं कराई जा रहीं हैं। कलेक्टर व एसपी द्वारा मंगलवार को क्वारेंटाइन सेंटर का अवलोन किया था।

इधर शहर के खिन्नी नाका स्थित हॉस्टल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाकर लोगों को रखा जा रहा है। बुधवार को रमेशचंद्र अग्रवाल की ओर से दिन में खाने के पैकेट भिजवाए गए। शाम को भी व्यवस्था कराई गई। अग्रवाल का कहना है कि यदि सौ लोग भी रहेंगे तो उनको भी भोजन की व्यवस्था अपना घर आश्रम शिवपुरी की तरफ से कराई जाएगी।