बडी खबर:शिवपुरी में 36 घंटे में 5 मरीजों का काल बना कोरोना, अब तक 50 से अधिक मरीजों की मौत - Shivpuri News

शिवपुरी। खबर शहर को डराने वाली हैं कि शिवपुरी जिले में पिछले 36 घंटो में 5 मरीजो की मौत का कारण बना है कोरोना। कोरोना ने जिस तरह से अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है उससे देश प्रदेश ही नहीं बल्कि अब जिलेवासियों की भी रूह कांपने लगी हैंं।

36 घंटे में 5 मौतें सामने आई है यानि हर 7 घंटे में एक मौत का आंकडा सामने आया हैं। इससे अंदाजा लगा सकते है कि अब कोरोना लोगों के लिए काल बनता जा रहा है। लेकिन लोग है कि अब भी इसे हल्के में ले रहे हैं लेकिन लोगों को यह नहीं पता कि जब कोरोना अपना रौद्र रूप दिखाएगा तो शमशान में भी लोगों को जलाने के लिए जगह तक नसीब नहीं होगी।

रिटायर्ड प्रोफेसर के लिए काल बना कोरोना

शहर के रिटायर्ड प्रोफेसर बीबी अग्रवाल को कोरोना के चलते शहर के सिद्धि विनायक अस्पताल में भर्ती कराया गया था जहां उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ जिसके बाद उनकी मौत बीते रोज हो गई।

पोहरी के व्यापारी की कोरोना से मौत 

कोरोना से आज शहर में दो मौतें हुई जिनमें एक पोहरी के व्यापारी हैं जिन्हें 2 अप्रैल की पॉजिटिव आने के बाद भर्ती किया गया था। राजकुमार गोयल 75 वर्ष छर्च वाले पोहरी डायविटीज के शिकार थे। जिसके बाद आज उन्होंने दम तोड दिया।

72 साल के रामबाबू ने तोड़ा कोरोना से दम

रामबाबू प्रजाप्रति उम्र 72 साल तारकेश्वरी कॉलोनी को कोरोना के साथ साथ निमोनिया था। जिसके चलते उन्हें भर्ती कराया गया था और उन्होने इलाज के दौरान दम तोड दिया।

गुना के श्रीलाल ने भी तोड़ा दम

गुना के श्रीलाल को अस्थमा की शिकायत थी और कोरोना पाजिटिव आने के बाद उन्हें 11 अप्रैल को गुना से शिवपुरी जिला अस्पताल लाया गया था जिसके बाद आज उन्होंने दम तोड दिया।

ग्वालियर में शिवपुरी के एक युवक की मौत 

ग्वालियर में भी शिवपुरी के एक युवक ने इलाज के दौरान बीते रोज दम तोड दिया था। 5 मौते हो जाने के बाद भी लोगों को कोई फक्र नहीं पड रहा है और लोग बिना मास्क और बिना सुरक्षित दूरी के ही बाजारों में जमघट लगाना शुरू हो गया है।

सांस लेने में हो रही मरीजों को परेशानी

कोरोना के चलते लोगों को अब सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड रहा है और लोगों को इलाज के लिए जब अस्पताल लाया जाता है तो यहां आक्सीजन ही पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल रही है जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड रहा है।