स्मैक कांड में लाइन अटैच हुए SI योगेंद्र सेंगर ,पकड़े थे स्मैकची - Shivpuri News

शिवपुरी। पोहरी पुलिस द्वारा स्मैक पीने के आरोप में गिरफ्तार किए गए राजेश पचौरी प्रचारक ने एसपी राजेश चंदेल को शिकायती पत्र देकर मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की थी जिसके बाद एसपी राजेश चंदेल ने एसआई योगेन्द्र सेंगर पर गाज गिराते हुए उसे लाइन अटैच कर दिया है।

यह लिखा था शिकायती आवेदन में

आवेदन में राजेश पचौरी ने बताया कि पोहरी के नगर निरीक्षक तिमेश छारी व चार अन्य पुलिस वालों ने द्ववेष पूर्ण भावना और राजनैतिक दवाब के चलते मेरे खिलाफ स्मैक पीने के आरोप लगाते हुए कार्यवाही की हैं। उन्होंने कहा कि वह व उनके साथी गाय खरीदने के लिए गोरस जा रहे थे।

तभी वह रास्ते में एक शिव मंदिर पर रूके थे जहां से पुलिस ने उन्हें व अन्य 7-8 लोगों को बिना कारण के थाने ले गई। थाने में टीआई छारी ने सभी लोगों को वहां से कुछ समय बाद भगा दिया, लेकिन मुझ पर व दो अन्य लोगों के खिलाफ कार्यवाही कर जेल पहुंचा दिया।

शिवलिंग की तोडफोड पर रूके थे मंदिर पर

जमानत पर छूटकर आए राजेश पचौरी ने पुलिस अधीक्षक को दिए गए शिकायती आवेदन में कहा कि 7 मार्च को वह बाइक से अपने साथी महावीर त्यागी के साथ गोरस जिला श्योपुर गाय खरीदने के लिए जा रहे थे। तभी रास्ते में उन्हें कुछ लोगों ने बताया कि यहां स्थित शिव मंदिर पर कुछ असमाजिक तत्वों ने तोड़ फोड़ करते हुए शिव लिंग को कुए में फैंक दिया हैं।

इस सूचना पर वह मौके पर पहुंचे और उपस्थित लोगों से कहा कि शिवलिंग को कुए से निकाल कर पुन: स्थापना कराई जाए। इसी बीच आरक्षक बदन सिंह धाकड़, टीआई तिमेश छारी, योगेन्द्र सिंह सेंगर, एसआई कुलदीप शर्मा, आरक्षक मुकेश सिंह वहां आ गए और उन्हें व अन्य 7-8 अन्य लोगों थाने ले गए थाने से अन्य समाज विशेष के लोगों को तो छोड़ दिया, लेकिन उनके व अन्य दो लोगों के खिलाफ स्मैक पीने की कार्यवाही करते हुए मामला पंजीबद्ध कर लिया।