सामाजिक समन्वय का माध्यम है अग्रवाल युवक-युवती परिचय सम्मेलन: देवेंद्र जैन - Shivpuri News

शिवपुरी। मध्यदेशीय अग्रवाल ने हमेशा से सर्वहारा वर्ग की सोच को सार्थक किया है भले ही वह कोरोना काल में की गई समाज के द्वारा सेवा और राशन पहुंचाने का कार्य हो या फिर समाज को एक मंच पर लाने के लिए समय-समय पर किए जाने वाले सेवाभावी कार्यों इसके अलावा परिचय सम्मेलन भी समाज का एक प्रमुख सेवा का कार्य है जिसमें सामाजिक समन्वय का माध्यम यह परिचय सम्मेलन होते है।

ऐसे में यह आयोजन अपने उददेश्यों की पूर्ति करेगा इसका मुझे पूर्ण विश्वास है, समाज में सामाजिक संगठन हमेशा बना रहे तभी हम समाज के कार्यों को मिलकर पूर्ण कर सकेंगें। यह बात पूर्व विधायक देवेन्द्र जैन ने अग्रवाल युवक-युवती परिचय सम्मेलन कार्यक्रम में कही। कार्यक्रम की शुरूआत सर्वप्रथम कुलदेवी माता लक्ष्मी पूजन व महाराजा अग्रसेन प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलन व माल्यार्पण के साथ हुई।

कार्यक्रम के अन्य अतिथियों में रमेशचन्द्र गुप्ता भटनावर वाले, समाजसेवी भरत अग्रवाल नारियल वाले, घनश्याम दास प्रधान, अजीत चौधरी, ट्रस्ट अध्यक्ष अजीत जैन सहित मध्यदेशीय अग्रवाल समाज अध्यक्ष गौरव सिंघल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष उत्तमचंद गोल, महिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष निशा गुप्ता, उपाध्यक्ष अंकित गुप्ता, महामत्री प्रांशुल अग्रवाल, महिला महामंत्री रेणु सिंघल, सहमंत्री शुभम गर्ग, महिला सहमंत्री रेणु अग्रवाल, कोषाध्यक्ष मथुराप्रसाद गुप्ता व प्रचार मंत्री विकास गोयल आदि मौजूद रहे।

वीडियो कान्फ्रेंस से भी हुए युवक-युवतियों के परिचय

बदलते समय में मध्यदेशीय अग्रवाल समाज द्वारा आधुनिक युग में परिचय सम्मेलन को भी सार्थक बनाया। जिसमें शिवपुरी जिले के अतिरिक्त संभाग और प्रदेश सहित देश के दूर कोने से भी कई ऐसे युवक-युवती जिन्हें अपने भावी जीवन साथी की तलाश थी उन्होंने भी वाट्सऐप और वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से अपना परिचय देकर इस मंच से जीवन साथी को तलाश। इस परिचय में एक ओर जहां युवक-युवतियों ने रोजगार और आत्मनिर्भर भारत में योगदान देने वाले जीवन साथी का ब्यौरा प्राप्त किया तो वहीं कई युवक-युवतियों ने शिक्षा और सीए व स्वयं के व्यापार को भी प्राथमिकता प्रदान की।

कुण्डली मिलान और दिया सामूहिक परिचय

एक ओर जहां विवाह योग्य युवक-युवती अपना परिचय देकर जीवन साथी की तलाश कर रहे थे वहीं दूसरी ओर इन्हीं युवक-युवतियों के कुण्डली मिलान की व्यवस्था भी मध्यदेशीय अग्रवाल समाज के द्वारा की गई थी जिसमें कार्यक्रम स्थल के समीप ही मौके पर कम्प्यूटर के माध्यम से युवक-युवतियों की कुण्डलनी मिलान किया गया। इसके अलावा मंच से परिचय देने को लेकर युवक-युवतियों में भी खासा उत्साह देखने को मिला।