पुरूष नसबंदी में फिसड्डी शिवपुरी, पुरूषों से ज्यादा जागरूक महिलाएं - Shivpuri News

शिवपुरी। स्वास्थ्य विभाग इन दिनों कैंप आयोजित कर पुरूष और महिलाओं की नसबंदी के लिए शिविर लगा रहा है लेेकिन इन शिविरों में पुरूषों की वजाय महिलाओं की भागीदारी देखी जा रही है। पुरूष नसबंदी की बात करें तो 1 हजार महिलाओं की नसबंदी पर 5 पुरूष भी नसबंदी नहीं करा रहे हैं। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिला पुरूष नसबंदी में फिसडडी है।

शस्त्र लायसेंस पाने कराई थी नसबंदी

तत्कालीन कलेक्टर मनीष श्रीवास्तव ने लोगों में हथियारों के प्रति क्रेज को देखते हुए इसे नसबंदी से जोड दिया था जिसके बाद जिले में कई पुरूषों ने नसबंदी कराई थी। नसबंदी के लिए नियम बनाया था कि जो पुरूष नसबंदी कराएगा उसे शस्त्र लायसेंस में प्राथमिकता दी जाएगी जिसके बाद कई पुरूषों ने नसबंदी कराई थी।

ग्रामीण क्षेत्रों में नहीं हो रही पुरूष नसबंदी

बात करें यदि ग्रामीण क्षेत्र की तो ग्रामीण इलाकों में पुरूषों की वजाय महिलाएं नसबंदी के लिए जागरूक हैं जबकि पुरूष नसबंदी का आंकडा ग्रामीण इलाकों से शून्य है। यहीं कारण है कि पुरूष नसबंदी को बढाने के लिए अब प्रेरकों को भी पैस दिया जा रहा है और जो पुरूष नसबंदी करा रहे हैं उन्हें भी पैसा दिया जा रहा है।