मिर्ची सेठ और तहसील के अधिकारी का जमीन प्रेम, कई जगह कर डाली प्लाटिंग - Shivpuri News

शिवपुरी। शिवपुरी जिले को अधिकारी अपनी चारागाह बना लेते हैं और यहां आकर लाखों करोडों रूपए कमाते हैं। आजकल एक तहसील के अधिकारी और मिर्ची सेठ का जमीनों से प्रेम देखा जा रहा है और यह कई जगह प्लाटिंग कर मोटी कमाई करने में लगे हैं। तहसील के रिकार्ड रूम में अचानक से आग लगना इस बात की ओर इशारा कर रहा है कि कही न कहीं किसी बडे गोलमाल को अंजाम देकर उसके दस्तावेजों को नष्ट कर दिया है जिससे यह लाखों करोडों के बारे न्यारे कर सकें।

जानकारी के अनुसार शहर का एक मिर्ची कारोबारी और तहसील के अधिकारी ने जमीनों का अपना निशाना बना शुरू कर दिया है इनके द्वारा शहर के कई आसपास के इलाकों में प्लाटिंग की जा रही है। इतना ही नहीं इसमें एक होटल का कारोबारी भी शामिल है जो अधिकारी की काली कमाई को सफेद करने में लगा है।

रिकार्ड रूम आगकांड की हो जांच

आरटीआई कार्यकर्ता अमित का कहना है कि अभी हाल में कई बडे रसूखदारों के कब्जे से सरकारी जमीन को मुक्त कराया गया है। ऐसे में तहसील में पदस्थ इस अधिकारी ने अपने कार्यकाल में कई काले कारनो किए हैं और कई सरकारी जमीनों को मिर्ची सेठ और होटल कारोबारी के साथ मिलकर बेच डाला है। ऐसे में सरकारी मशीनरी को संभालने का काम तहसील का अधिकारी करता है जबकि जमीन को बेचने का कारोबार मिर्ची सेठ और होटल कारोबारी करता है।

जांच हो तो कई घोटाले आएंगे सामने

लोगों का कहना है कि सरकारी जमीनों को भू माफियाओं ने बेच डाला है ऐसे में यदि सरकारी जमीनों के पुराने रिकार्ड को खंगाला जाए तो पता चल सकेगा कि अधिकारी ने सरकारी जमीनों को निजी स्वामित्व की जमीन में तब्दील कर लाखों करोडों के बारे न्यारे तो किए ही साथ ही अब यह भू माफिया बनकर प्लाटिंग के धंधे में भी अपने हाथ जमा रहा है।