छात्रा को अश्लील मैसेस भेजने के मामले मे महाविदयालय के प्राचार्य और जांच समिति आमने सामने - Pichhore News

पिछोर। खबर जिले के पिछोर नगर के शासकीय छत्रसाल महाविदयालय से आ रही हैं कि महाविदयालय के वाणिज्य के प्रोफेसर के द्धवारा छात्रा को सोशल पर अश्ललील मैसेेस भेजने के मामले में जांच समिति और महाविदयालय के प्राचार्य आमने सामने आ गए है। महाविदयालय के प्राचार्य प्रोफेसर का बचाव कर रहे हैं।

इस मामले मे महाविदयालय के प्राचार्य का कहना हैं कि छात्रा ने लिखित शिकायत नही है वही जांच समिति का कहना हैं कि छात्रा ने लिखित शिकातय की हैं,इसी शिकायत पर हमने जांच प्रतिवेदन बनाया है। बताया गया है कि यह मामला थाने तक भी पहुंचा था।

जैसा कि विदित हैं कि शासकीय महाविद्यालय के वाणिज्य के प्राे. अनंत सिंह ने काॅलेज की एक छात्रा के सोशल मीडिया पर 6 फरवरी को आपत्तिजनक कमेंट की। इसका पता चलने पर कॉलेज स्टाफ ने विरोध किया। इसके बाद प्रोफेसर अनंत ने स्टाफ ग्रुप में भी अभद्र भाषा का उपयोग किया। मामला सामने आते ही जांच समिति गठित की गई।

इस समिति में प्राध्यापक एमएस राठौर, अक्षय कुमार जैन, डॉ. अंजू सिहारे, डॉ. बबीता बाथम तथा महिला उत्पीड़न समिति की संयोजक भावना भटनागर शामिल थीं। इनमें से भावना भटनागर और अक्षय कुमार जैन से चर्चा की गई तो उन्होंने ऐसा कोई मामला होने से ही मना कर दिया।

वहीं प्राध्यापक राठौर ने बताया कि महिला उत्पीड़न का मामला सामने आया था। पीड़ित छात्रा तथा प्राध्यापकों ने लिखित आवेदन दिया था। इस पर समिति द्वारा जांच रिपोर्ट बनाकर प्राचार्य को सौंप दी है। अब प्रभारी प्राचार्य एएस यादव का कहना है कि जांच प्रतिवेदन संयुक्त संचालक को भेजा गया है।

इनका कहना हैं
गलत कमेंट करने की छात्रा ने कोई लिखित शिकायत नहीं की है। प्रोफेसरों द्वारा दिए ज्ञापन पर हमने जांच समिति बनाई है। इसकी रिपोर्ट बनाकर ग्वालियर भेज दी है। एएस यादव, प्रभारी प्राचार्य, छत्रसाल महाविद्यालय, पिछोर

मुझे कोई पत्र नहीं मिला
मुझे अभी तक कोई पत्र नहीं मिला है, न मुझे इस मामले की कोई जानकारी है। एमआर कौशल, संयुक्त संचालक, उच्च शिक्षा, ग्वालियर