मुक्तिधाम में अब नही जलेंगें मुर्दे, रहेंगें जिंदा आदमी, हो रही हैं मुक्तिधाम को बेचने की तैयारी, रास्ता किया बंद - kolaras News

कोलारस। शिवपुरी जिले में प्रशासन भूमाफियाओ पर कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा हैं,अवैध काॅलानी काटने वालो की अब खेर नही हैं ऐसे प्रेस नोट जारी हो रहे हैं,लेकिन हालात ओर कुछ दर्शा रहे हैं। मामला कोलारस का हैं जहां भूमाफिया अब मुक्तिधाम को ही बेचने की तैयारी कर रहे हैं और इसी क्रम में उन्होने मुक्तिधाम का रास्ता ही बंद कर दिया हैं।

जानकारी के अनुसार कोलारस नगर परिषद के वार्ड क्रमांक 1 जगतपुर राई रोड पर स्थित मुक्तिधाम की ओर जाने वाले रास्ते को ही बंद कर दिया गया हैं। रास्ता बंद कर मुक्तिधाम पर कब्जा उसे बेचने की प्लानिंग भी शुरू हो चुकी है।

बताया जा रहा हैं कि भूफिया ने मुक्तिधाम की ओर जाने वाले रास्ते पर हिटैची चला कर रास्ते को बंद कर दिया हैं क्षेत्र के निवासियो ने जब अवैध रूप से कब्जा कर श्मशान घाट के रास्ते को बंद करने वाले भूमाफिया से बात की गई तो उनका कहना था की यहां पर कोई मरघट खाने की भूमि नहीं है।

जबकि वर्तमान में मरघट खाने का सर्वे नंबर सहित भूमि पर मरघट खाने के साक्ष्य भी मौजूद हैं, वार्ड वासियों द्वारा चंदा एकत्रित कर कोलारस अनुविभागीय अधिकारी की पूर्व स्वीकृति पर 50 वर्ष पुराने मुक्तिधाम की भूमि का सीमांकन कराकर टीन शेड का निर्माण कराया गया हैं,इससे पूर्व में भी भू माफियाओं द्वारा मुक्तिधाम पर कब्जा करने की कोशिश की गई थी।

जिसकी लिखित शिकायत वार्ड वासियों द्वारा प्रशासन से की गई थी वर्तमान में फिर से भू माफियाओं द्वारा मुक्तिधाम की शासकीय भूमि के रास्ते पर हिटैची चला कर रास्ता बंद कर दिया गया है जिसकी लिखित शिकायत वार्ड वासियों द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों से की गई लेकिन कोई कार्रवाई नही की गई हैं।

बताया जा रहा हैं कि पूर्व मैं कोलारस में पदस्थ रहे एसडीएम आईएएस अधिकारी आशीष तिवारी द्वारा मौके पर जाकर मुक्तिधाम के रास्ते का सीमाकन कराया गया था इसके बावजूद भी मुक्तिधाम का रास्ता मशीन चला कर बंद कर दिया हैं।