TOLL-FREE नबंर वाले चोर ने शिक्षक को लगाया 57 हजार का चूनाः जिले में तीसरी घटना

नरवर। टाॅल फ्री नबंर पर अपनी समस्या कि निबटारे के चक्कर में लोग अपनी समस्या समस्या बडा रहे हैं। कस्टमर केयर के टाॅल फ्री नंबर के कारण जिले में 3 लोगो का पैसा ठगो ने उनके एकाउंट से साफ कर दिया हैं।

जैसा कि विदित हैं कि शिवुपरी की चंद्रा काॅलानी में रहने वाली महिला ने एसबीआई बैंक के कस्टमर केयर नंबद से मदद मांगी,करने के चक्कर में वह अपना एकाउंट खाली करा चुकी हैं। वही शिवुपरी में ही रहने वाले एक फाइनैंस कंपनी के ऐजेंट ने भी एक ट्रांजजैक्शन फैल होने के कारण कस्टर केयर पर फोन लगाया ओर बदले में कस्ट ले लिया और उनका पैसा उनके एकाउंट से गायब हो गया।

नरवर के मगरौनी में भी कुछ ऐसा ही एक शिक्षक के साथ हुआ। गूगल पे पर रिचार्ज करने के चक्कर में कस्टमर केयर से बातचीत में मोबाईल पर भेजी गई लिंक को क्लिक करते ही उनका ठगो ने एकाउंट खाली कर दिया। बार-बार कस्टमर केयर के टाॅल फ्री नंबरो के विषय में खबरो का प्रकाशन मीडिया के द्वारा किया जा रहा हैं फिर भी लोग कस्टमर केयर के टाॅल फ्री नंबर वाले ठगो के जाल में फस रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल में पदस्थ विज्ञान विषय के शिक्षक दिनेश उम्र 38 साल पुत्र रामस्वरूप चैधरी निवासी निजामपुर मगरौनी शनिवार की शाम अपने मोबाइल पर गूगल पे से मोबाइल नंबर पर रीचार्ज कर रहे थे। 599 के तीन बार रीचार्ज की कोशिश में पैसे तो कट गए, लेकिन रीचार्ज नहीं हुआ।

इसे लेकर शिक्षक ने इंतजार करने की बजाय गूगल पर जाकर गूगल पे कस्टमर केयर नंबर सर्च कर लिया। उस नंबर पर संपर्क करके अपनी समस्या बताई। ठग ने विश्वास में लेकर कहा कि दो मिनिट में आपके पैसे वापस खाते में पहुंच जाएंगे।

इसके लिए ठग ने मोबाइल पर एक लिंग भेजी और कहा कि ओटीपी नंबर दे दें। जैसे ही ओटीपी शेयर कीए खाते से एक.एक करके तीन बार में 35 हजार 802ए 19 हजार 905 और 1 हजार 925 रुपए खाते से कट गए। कुल 57 हजार 632 रुपए की ठगी हुई है।

हालांकि शिक्षक की शिकायत पर पुलिस ने ठगी के आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

रोते हुए शिक्षक बोला. अब खाते में सिर्फ 300 रुण् बचे
शिक्षक दिनेश चैधरी फोन पर अपने साथ हुई ठगी की घटना के बारे में जानकारी बता रहे थे। ओटीपी शेयर करने की बात करते हुए शिक्षक रोने लगे और कहा कि उसने मेरे सारे पैसे निकाल लिए। अब खाते में मात्र 300 रुपए का बैंक बैलेंस रह गया है।