बेटियो से मुलाकात, शादी का प्रेशर हैं, अनपढ मां बोली पढो और काबिल बनोः यशोधरा भी हुई भावुक - Shivpuri News

शिवपुरी। पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित जागरूक बेटियो से मुलाकात कार्यक्रम में पुलिस भर्ती के लिए दक्षता ट्रेनिंग हासिल कर रही युवतिया शिवपुरी विधायक एंव मप्र शासन की मंत्री यधोधरा राजे सिंधिया से मिली और अपने अनुभव शेयर किए। युवतियो की अनुभव सुनते हुए राजे ने कहा कि आप हौसला रखिए हम हरसंभव मदद करेंगें।

दरअसल पुलिस परेड ग्राउंड में इन दिनों जरूरतमंद युवतियों को पुलिस सेवा में आने के लिए दक्षता ट्रेनिंग दी जा रही है। जिसके तहत 51 बेटियों का चयन महिला बाल विकास विभाग और पुलिस विभाग ने संयुक्त रूप से किया है। इन बेटियों को न केवल शारीरिक रूप से दक्ष किया जा रहा है वरन ट्रेनर द्वारा इन्हें लॉग जंप, हाई जंप दौड़ और फिटनेस के गुर सिखाए जा रहे हैं। इसके साथ.साथ इनके पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के लिए भी क्लास लगाई जा रही है। ताकि यह बौद्धिक रूप से सक्षम हो सकें।

इन युवतियों से बातचीत के लिए मध्य प्रदेश की खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया पुलिस परेड ग्राउंड पहुंची।उन्होंने युवतियों से बातचीत कर कहा कि वह उनकी हर संभव मदद करेंगी। वह उनके अनुभव सुनना चाहती हैं कि ट्रेनिंग के दौरान वह कैसा महसूस कर रही हैं। इस पर युवतियों ने अपनी परेशानी भी बताई। पारिवारिक स्थिति को भी बयां किया और यह भी जताया कि उनके लिए यह नौकरी हासिल करना कितना जरूरी है।

बेटियो से मुलाकात कार्यक्रम में एक युवती ने यशोधरा राजे ने कहा कि मैं आदिवासी हूं,पिता शिक्षक हैं इसलिए भाई.बहनों को पढ़ाया। लेकिन अब पिता मेरी शादी कराना चाहते हैं। मां अनपढ़ है, लेकिन वह चाहती है कि मैं पढ़ लिख लूं। इसीलिए उनके कहने पर में पुलिस भर्ती की ट्रेनिंग में दक्षता लेने आई हूं।

यदि मैं यहां सफल हो गई तो फिर निश्चित रूप से मेरा भविष्य भी संवर जाएगा। मंत्री जी मुझे नौकरी दिलाने में मदद करिएगा। इस पर खेल मंत्री ने उसे हौसला रखने का आश्वासन दिया। और कहा कि उसके जज्बे को वह सलाम करती है।

चाचा का सपना पूरा करने ट्रेनिंग कर रही हूं

पुरानी शिवपुरी में रहने वाली युवती ने बताया कि उसके पिता ट्रक चालक है। वह अक्सर बाहर रहते हैं,12वीं तक पढ़ाई हो गई अब मेरी शादी करना चाहते है। जबकि मैं शादी कराना नहीं चाहती। मैं चाहती हूं कि जब तक मैं कुछ बन ना जाऊं तब तक शादी नहीं करूंगी। इसीलिए जब मुझे जानकारी मिली कि यहां पुलिस भर्ती के लिए ट्रेनिंग दी जा रही हैए निशुल्क है, तो मैं यहां आ गई। चाचा मेरे साथ हैं जो मुझे जीवन में कुछ बनने का हौसला देते रहते हैं।

माता पिता नही हैंःअपना लक्ष्य पूरा करने आई हूं
जिले के ग्रामीण क्षेत्र से आई युवती ने कहा कि उसका कोई नहीं है। माता. पिता के गुजर जाने के बाद वह मामा के साथ रहती है। यहां ट्रेनिंग लेने आई है। मामा ही उसकी देखरेख करते हैं। पुलिस की नौकरी में आ जाऊं तो सपना साकार हो जाए। मां अक्सर कहती थी कि बेटी को पुलिस बनाऊंगी। मां के सपने को साकार करने में पुलिस बनना चाहती हूं। खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने युवती को शाबाशी देकर कहा कि वह हिम्मत नहीं हारे,एक दिन सफलता अवश्य मिलेगी।

बेटियों के लिए बहुत कुछ करना है

बेटियों की भावनाओं ने दिल छू लिया। उनके लिए मुझे बहुत कुछ करना है,अभी जो ट्रेनिंग पुलिस और महिला बाल विकास विभाग के माध्यम से दी जा रही है, मैं उन्हें खेल विभाग के विशेष ट्रेनर के माध्यम से ट्रेनिंग दिलाएंगे। ताकि वह दक्षता हासिल कर सकें।
यशोधरा राजे सिंधियाए खेल मंत्री मध्य प्रदेश शासन

बेटियों को योग्य बनाकर सपने साकार कराएंगे

हमने अभी ट्रेनिंग शुरुआत की है।पहले चरण में 51 बेटियों का चयन किया है। जिन्हें हम फिजिकल, मेंटल और एजुकेशनल ट्रेनिंग दे रहे हैं। हमारी कोशिश है कि इन बेटियों को योग्य बना कर इन्हें उनका सपना साकार करने में मदद करें। फिलहाल आरक्षक भर्ती परीक्षा है जिसमें महिलाओं को आरक्षण है। उसके लिए इन बेटियों को दक्ष कर रहे हैं। बेटियां भी पूरी मेहनत के साथ अपने आपको दक्ष बनाने में जुटी हुई हैं।
देवेंद्र सुंदरियाल, महिला बाल विकास अधिकारी शिवपुरी