युवती से छेड़छाड़: दादा कोे पीटा+पुलिस ने अदम चैक काटकर भगाया+दादा की अस्पताल में मौत+चक्काजाम= हत्या का मामला दर्ज - karera News

करैरा। खबर जिले के करैरा थाना क्षेत्र के टोडा सिद्धपुरा साजौर से आ रही है। जहां बीते दो दिन पहले हुए मारपीट के मामले में घायल एक वृद्ध की आज उपचार के दौरान मौत हो गई। इस मामले में हद तो तब हो गई जब परिजनों ने देखा कि पुलिस ने उनकी एफआईआर न करते हुए महज अदम चैक काट दिया। अब वृद्ध की मौत के बाद परिजनों को गुस्सा आ गया और उन्होंने हाईवे पर चक्काजाम कर दिया। 

जानकारी के अनुसार करैरा थाना अंतर्गत बीती 10 जनवरी को रात्रि 8 बजे एक 16 वर्षीय युवती अपने गांव टोडा पिछोर थाना करैरा किराने की दुकान पर सामान लेने जा रही थी। तभी वहां पर सुंदर जाटव आया और शराब के नशे में धुत होकर युवती से छेड़छाड़ करके गाली गलौज करते हुए अभद्र व्यवहार करने पर उतारू हो गया। 

इस पूरी घटना का युवती ने जमकर विरोध किया मौके पर चीख पुकार भी करने लगी तभी युवती का छोटा भाई आया उसकी भी सुंदर जाटव नेे जमकर मारपीट कर दी। 

इतना ही नहीं युवती की मां मौके पर पहुंची तो सुंदर जाटव ने उसके साथ मारपीट कर दी घटना में बताया जाता है कि युवक सुंदर जाटव के साथ मारपीट करने वालों में अवध किशोर, हरज्ञान,रायसिंह,अर्जुन,संदीप, रामेश्वर,तेजभान आदि लोग शामिल थे। 

इन सभी ने पीडि़त युवती के परिवार के साथ मारपीट करते हुए घटना में घायल युवती के दादा रामदयाल जाटव पुत्र बहादुर जाटव उम्र 85 साल को सिर में चोटें आई हैं। अपने घर चले गए इसके बाद सुंदर जाटव के साथ.साथ घर पहुंच गया। फिर से मारपीट करने लगे मोटरसाइकिल की गई इस पूरी घटना की युवती के परिजन धर्मेंद्र जाटव पुत्र महेश जाटव निवासी टोडा ने करैरा थाने पहुंचकर रिपोर्ट लिखाई लेकिन करेरा थाने में पदस्थ अमित भदौरिया व अन्य स्टाफ ने सुनवाई नहीं की। 

परिजनों का आरोप है कि हमारी फरियाद न सुनते हुए उनकी रिपोर्ट नहीं लिखी गई इसके बाद एसपी कार्यालय में पहुंचकर पीडि़ता ने अपने बयान दर्ज कराए जिससे एसपी पुलिस अधीक्षक द्वारा करैरा निरीक्षक को इस संबंध में कार्यवाही करने के लिए कहा गया इसकी पुष्टि स्वयं निरीक्षक अमित भदोरिया द्वारा की गई और उन्होंने बताया कि जब यह घटना हुई तो मैं यहां नहीं था और मैंने अदम चेक की कायमी दोनों पक्षों की ओर से कर ली है।

उसके बाद आज युवती के दादा का स्वास्थ्य गिरता गया और आज उसकी उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस की कार्यवाही से गुस्साए परिजनों ने हाईवे पर चक्काजाम कर आरोपीयों पर हत्या का मामला दर्ज कराने की मांग पर अड गए। जिसपर से पुलिस ने पीडित पक्ष की शिकायत पर 7 आरोपीयों के खिलाफ हत्या की धाराओं में मामला दर्ज कर विवेचना में ले लिया है।