कलेक्टर सहाब! पटवारी ने नामांतरण के बदले 4 हजार ले लिए अब 6 हजार और मांग रहा है - Shivpuri News

शिवपुरी। इस समय जिले में भष्टाचार पूरे चरम पर है। अधिकारी कर्मचारी पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त है। परंतु कलेक्टर इन अधिकारीयों पर लगाम नहीं कस पा रहे है। जिसके चलते हालात यह हो गए है कि अधिकारी कर्मचारी खुलेआम रिश्वत का खेल खेल रहे है। आज जनसुनवाई में भ्वर सिंह लोधी ने पटवारी पर खुलेआम रिश्वत लेने का आरोप लगाया है। 

पीडित ने आरोप लगाते हुए बताया है कि उसके पुत्र जवाहर सिंह लोधी के स्वामित्व की निजी क्रयशुदा भूमि सर्वे नं . 617 एवं 618 में से रकबा 16 आरे प ० ह 0 नं 0 39 ग्राम लगदा तहसील रन्नौद जिला शिवपुरी म प्र में स्थित है । उक्त कृषि भूमि विजय परिहार से बजरिये रजिस्टर्ड विक्रय पत्र क्रय की गई है । यह कि जवाहर सिंह लोधी द्वारा उक्त भूमि का नामांतरण स्वयं के नाम करवाने हेतु पटवारी जगदीश को रजिस्ट्री की प्रति , खसरा खतौनी , स्वयं का शपथ पत्र , आधार कार्ड आदि समस्त दस्तावेज प्रस्तुत किये जा चुके हैं।

पहले इस जमीन का नामांतरण करने के एवज में पटवारी उससे 2 हजार रूपए ले चुका है। परंतु आज दिनांक तक नामांतरण नहीं कर रहा है। परंतु अब पटवारी द्वारा 1500 रू . और मागे जा रहे हैं , रूपये न देने पर नामांतरण नहीं करवाया जा रहा है । इसी प्रकार प्रार्थी की पत्नी श्रीमती जनता बाई लोधी पत्नी श्री विष्णु लोधी के निजी स्वामित्व की क्रयशुदा भूमि ग्राम लगदा तहसील रन्नौद जिला शिवपुरी म 0 प्र 0 में स्थित है । उक्त कृषि भूमि बजरिए रजिस्टर्ड विक्रय पत्र क्रय की गई है । 

उक्त भूमि कुल तीन रजिस्ट्रियों के माध्यम से करवाई गई हैं- सर्वे नं . 644 में रकबा 21 आरे नार्वे नं . 644 , 655 में से 21 आरे , सर्वे नं . 633 में से 7 आरे व सर्वे नं . 644 में से 17 आरे । यह कि प्रार्थी की पत्नी द्वारा उक्त भूमियों का नामांतरण स्वयं के नाम करवाने हेतु पटवारी जगदीश को रजिस्ट्री की प्रति , खसरा खतौनी , स्वयं का शपथ पत्र , विक्रेता का शपथ पत्र , गवाह के शपथ पत्र , आधार कार्ड आदि समस्त कागजात प्रस्तुत किये जा चुके हैं , परंतु पटवारी द्वारा नामांतरण नहीं करवाया गया है।

पटवारी को हमारे द्वारा 4000 / - रूपये दिये जा चुके हैं और पटवारी के द्वारा अभी भी 6000 / - रूपये और मांगे जा रहे हैं । उक्त संबंध में श्रीमान जी आपको पूर्व में दिनांक 10 दिसम्बर को आवेदन पत्र दिया गया था , परंतु उस पर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई हैं । इस संबंध में एक प्रति तहसीलदार महोदय को भी दी जा चुकी है , परंतु उनके द्वारा भी कोई कार्यवाही नहीं की गई है ।इस मामले में फरियादी ने कलेक्टर से आरोपी पटवारी के खिलाफ कडी कार्यवाही की मांग की है।