उपचुनाव के बाद अब नगरीय निकाय चुनावों की चर्चा, अब होंगे अध्यक्ष पद के आरक्षण - Shivpuri News

शिवपुरी।
मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर हुए सफल उपचुनाव के बाद अब प्रदेश में नगरीय निकाय के होने वाले चुनावों पर चर्चा केन्द्रित हो गई है। नगरीय निकाय के वार्डो का आरक्षण तो हो चुका है। लेकिन अध्यक्ष पद के लिए आरक्षण होना शेष है। जिज्ञासा का सवाल यही है कि अध्यक्ष पद पर कौन सा वर्ग काबिज होगा। नगर पालिका शिवपुरी के 39 वार्डाे के आरक्षण हो चुके हैं।

कौन सा वार्ड पिछड़े वर्ग, कौन सा वार्ड अनुसूचित जाति या जनजाति वर्ग तथा कौन सा सामान्य या सामान्य महिला के लिए आरक्षित होगा, यह तय हो चुका है। 39 वार्डो में से 20 वार्ड महिलाओं के लिए आरक्षित हो गए हैं। वार्डों के आरक्षण को देखकर दावेदारों ने वार्ड के निवासियों का दिल जीतने के लिए कोशिशें भी शुरू कर दी हैं। वहीं विभिन्न दलों के कार्यकर्ता टिकट की दौड़ में भी शामिल हो गए हैं।

नगर पालिका अध्यक्ष का पद अभी आरक्षित नहीं हुआ है। अभी अध्यक्ष पद पर पुरूष पिछड़ा वर्ग का कब्जा था। इसके पूर्व अध्यक्ष पद सामान्य महिला के लिए आरक्षित था। इस कारण अब अध्यक्ष पद सामान्य होने की अधिक संभावना है। इसे महसूस कर उम्मीदवारों की दौड़ भी तेज हो गई है। दावेदारों की संख्या कांगे्रस की तुलना में भाजपा में ज्यादा है।

क्योंकि भाजपा में अब सिंधिया समर्थक भी शामिल हो गए हैं। विभिन्न गुटों के नेता अपने कार्यकर्ता को अध्यक्ष पद का टिकट दिलाने का प्रयास करेंगे। देखना यह है कि किस गु्रप के कार्यकर्ता को टिकट मिलता है। शिवपुरी नगर पालिका के अलावा विभिन्न नगर पंचायतों में भी अध्यक्ष पद को लेकर जिज्ञासाएं शुरू हो गई हैं और दावेदारों की महत्वाकांक्षाओं ने भी जोर पकड़ लिया है।