दादा करना चाहते थे नातिन की शादी: इसलिए नाराज हो गई नातिन, परिवार परामर्श - SHIVPURI NEWS

शिवपुरी।
शिवपुरी स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में रविवार को आयोजित परिवार परामर्श केन्द्र के शिविर में कुल 17 प्रकरण आमंत्रित किए गए जिनमें कुल 9 प्रकरणों में दोनों पक्ष उपस्थित हुए थे। परिवार परामर्श केन्द्र के सदस्यों ने अपने कुशल परामर्श से 6 प्रकरणों में राजीनामा कराने में सफलता प्राप्त की वहीं 1 प्रकरण में अगली दिनांक दी गई।

दो प्रकरण राजीनामा योग्य नहीं पाए गए अत: उन्हें महिला थाना वापस कर दिया गया। ग्वालियर जोन के आईजी अविनाश शर्मा के कुशल मार्गदर्शन एवं प्रयासों से और शिवपुरी पुलिस कप्तान राजेश सिंह चंदेल की पहल और निर्देशन में चलाए जा रहे परिवार परामर्श के शिविरों में आपसी समझौतों कराकर परिवारों को टूटने से बचाने का अनुकर्णीय काम जिला पुलिस परिवार परामर्श केन्द्र के द्वारा किया जा रहा है। इसीक्रम में आयोजित रविवार के शिविर में 9 प्रकरणों का में से 6 प्रकरणों में राजीनामा हो गया।

रन्नौद थाना क्षेत्र के 26 वर्षीय राम का विवाह वहीं के पास के गांव में 24 वर्षीय लता से हुआ था और उनके दो बच्चे भी हैं। पति दुकानदारी से काफी अच्छा कमाता हैं लेकिन शराब पीकर अपनी पत्नि के साथ लम्बे समय से दुरव्यवहार कर रहा था। इसी के कारण विगत दो माह से लता अपने मायके रह रही थी और पुलिस अधीक्षक को उसने आवेदन दिया था।

काउन्सलरों की समझाईश पर दोनों पति-पत्नि के बीच राजीनामा हो गया। अब राम शराब नहीं पीएगा और अलग मकान लेकर अपनी पत्नि और बच्चों के साथ रहेगा। इसके अतिरिक्त हर माह की पांच तारीख तक वह तीन हजार रूपए अपनी पत्नि को खर्चे के लिए भी देगा।

बदरवास निवासी हरज्ञान का विवाह तेन्दुआ थाना क्षेत्र निवासी रामबाई के साथ हुआ था। हरज्ञान अपनी पत्नि को अच्छी तरह नहीं रखता था और अपशब्दों से प्रताडि़त करता था। अभी हाल ही में रामबाई के हाथ में फ्ेक्चर भी हो गया था और वह गर्भवती भी हैं।

पति-पत्नि के मनमुटाव के कारण फिल्वक्त पत्नि अपने मायके में रह रही थी और मायके बालों ने दस हजार रूपए कर्ज लेकर उसके फेक्चर का इलाज कराया। परामर्श दाताओं की समझाईश पर लडक़े और लडक़े पिता ने भविष्य में किसी भी प्रकार की गलती न करने का लिखित में बचन दिया और लडक़ी की माँ को दोनों ने इस बावत आश्वस्त भी किया। काउन्सलरों की समझाईश के बाद दोनों पक्षों में राजीनामा हो गया और प्लास्टर कटने के बाद पत्नि बदरवास चली जाएगी।

एक अन्य दिलचस्प प्रकरण में शिवपुरी में रह कर पढ़ाई कर रही 22 वर्षीय युवती ने पोहरी निवासी 75 वर्षीय अपने दादा से विवाद हो गया था। क्योंकि दादा बच्ची के ग्रेेज्युएट हो जाने के बाद उसकी शादी करना चाहते थे। मगर बच्ची आगे पढ़ कर भविष्य बनाना चाहती थी। दरअसल बच्ची की सौतेली माँ के कारण वह अलग कमरा लेकर शिवपुरी में रह कर पढ़ रही थी।

कुछ खर्चा उसका पिता और कुछ खर्च उसका दादा जो की पेंशनर्स हैं वह बहन करता था। जबकि बच्ची भी ट्यूशन करके कुछ धनोपार्जन कर लेती थी। इस प्रकरण में काउन्सलर समीर गांधी, श्रीमती बिन्दु छिब्बर और महिपाल ने इसमें विशेष प्रयास करके नातनी और दादा के बीच मनमुटाव को दूर करके उन दोनों को एक किया।

इस शिविर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रवीण भूरिया, जिला संयोजक आलोक एम इंदौरिया, महिला थाना प्रभारी दीप्ति तोमर, कन्ट्रोल रूम प्रभारी सब इंस्पेक्टर ब्रजेन्द्र सिंह राजपूत, समीर गांधी, राहुल गंगवाल, संतोष शिवहरे, हरवीर सिंह चौहान, डॉ. इकबाल खांन, महिपाल सिंह अरोरा, डॉ. डीके बंसल, डॉ.विजय खन्ना,श्रीमती नमृता गर्ग, श्रीमती स्नेहलता शर्मा, श्वेता गंगवाल, बिन्दु छिब्बर, सहित महिला सेल का स्टाफ मौजूद था। महिला सेल की प्रधान आरक्षक राजेंद्र भार्गव ,विपिन शर्मा,वैजन्ती आदि का सहयोग सराहनीय रहा।