दोशियान के पाप छुपाने और भ्रष्टाचार की लीकेज बंद करने नपा जनता के 48 करोड रूपए फूकने की तैयार में - Shivpuri News

शिवुपरी। सिंध जलावर्धन योजना की शहर की टंकियो को भरने वाली पाईप लाईन लगातार टूट रही हैंं। दो दिन पूर्व इस लीकेज ने सडक को फाड दिया था,जैसे तैसे नपा कर्मियो ने इस लीकेज पर पंचर लगाई। इसके कुछ घंटे बाद ही यह पाईप लाईन बायपास रोड स्टार गोल्ड होटल के सामने फूट गई। जीआरपी पाइप लाइन चौबीस घंटे में दूसरी बार फटी है।

बार-बार पाईप लाईन फटने और लीकेज होने के कारण नपा का भ्रष्टाचार सामने आता हैं,और देाशियान कंपनी के पाप सामने निकलने लगते हैं मीडिया खबर प्रकाशित करने लगता है। इस कारण इन सभी बातो को शांत करने के लिए नपा पुन:इस पाईप लाईन को बदलने की तैयारी में जुट गई हैं,लेकिन वह भी 48 करोड रूपए फूक कर। 

बताया जा रहा हैं कि भोपाल से एमएस पाइप और डीआई पाइप का एस्टीमेट गुपचुप तरीके से मंगाया है। यदि ऐसा हुआ तो 48 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च आएगा। भ्रष्टाचार में लिप्त जिम्मेदार अधिकारी और दोशियान कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के लिए नगर पालिका, प्रशासन और शासन ने आज तक कोई कठोर कदम नहीं उठाए है। जबकि नपा की परिषद में दोशियान कंपनी के डारेक्टर पर मामला दर्ज करने का ठहराव पास हो चुका हैं लेकिन नपा कार्यवाही के लिए अपने कदम आगे नही बडाती हैं सवाल बडा बनता हैं क्यो.....

शिवपुरी शहर में पानी की टंकियां भरने के लिए 4.50 किमी हिस्से में जीआरपी लाइन बिछी हैं। टंकियां भरने पानी छोड़ते वक्त खराब पाइप लाइन बार- बार फट रही हैं। नगर पालिका को हर बार लीकेज जोड़कर काम चलाना पड़ रहा हैं। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी और दोशियान के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराकर वसूली की कार्रवाई पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है। बता दें कि दोशियान कंपनी अपने जीआरपी पाइप शिवपुरी में खपाकर 55 करोड़ रुपए हजम करके शांत बैठी हैं। खराब पाइपों की सप्लाई देकर शहर की जनता को पानी के लिए मोहताज कर दिया हैं।

वही इस मामले में नपा के प्रभारी सीएमओ को कहना हैं कि जीआरपी पाईप लाईन बदलने के लिए एस्टीमेट हमसे मांगे थे। भोपाल जाकर में खुद देकर आया हूं।मैने एई से बोला हैं कि कि एग्रीमेंट और सारे रिकार्ड का अध्यन्न कर मुझे जानकारी उपलब्ध कराएं ताकि दोशियान के खिलाफ नियम अनुसार कार्यवाई करा सके।